Ads (728x90)

भिवंडी।एम हुसेन।  कोरोना वायरस  के बढते संक्रमण को रोकने के लिए सरकार द्वारा लागू किए गए लॉकडाउन के कारण सभी उद्योग, व्यवसाय, आदि  पूरी तरह से बंद हो चुके हैं ।गौरतलब हो कि  भिवंडी मजदूर बहुल क्षेत्र  के रूप में जाना जाता है जहां पावर लूम मजदूर दैनिक काम करके सपरिवार जीवन यापन करते  हैं परंतु आज आर्थिक संकट से जूझ रहे हैं  ।जिसे गंभीरता से संज्ञान में  लेते हुए, कई सामाजिक संगठन श्रमिकों को भोजन के पैकेट और खाद्य पदार्थ प्रदान कर रहे हैं।  आर्थिक रूप से बिगड़ते हालात में बिजली बिल का बोझ भी इनके लिए  बडी समस्या बनते जा रहा है ,उक्त सभी परेशानियों को देखते रखते हुए समाजवादी पार्टी के भिवंडी शहर के जिलाध्यक्ष अरफात शेख ने मुख्यमंत्री उद्धव  ठाकरे  को ईमेल द्वारा  तीन महीने के बिजली बिल माफ करने का आह्वान किया।

 गौरतलब है कि सपा अध्यक्ष ने  मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को  पत्र के माध्यम से अवगत  कराया  है कि भिवंडी शहर  पावरलूम उद्योग का  मैनचेस्टर कहा जाता है और लाॅकडाउन के कारण  पावरलूम   उद्योग पूरी तरह से बंद हो गया है और यह उद्योग पूर्व  वर्षों  से मंदीके कारण आर्थिक संकट से जूझ रही थी , परिणामस्वरूप यह उद्योग  अंतिम सांस ले रही थी, और अब  लाॅकडाउन के कारण पूर्ण रूप से बंद होने के कारण पावरलूम मजदूरों  के साथ-साथ पावर लूम मालिक भी भयंकर आर्थिक संकट में हैं।  ऐसे गंभीर परिस्थितियों से जूझ रहे भिवंडी की जनता का तीन महीने का बिजली बिल माफ किया जाना चाहिए। इसी तरह, समाजवादी पार्टी के भिवंडी जिलाध्यक्ष अरफात शेख ने कहा कि पावरवूम  उद्योग, और अन्य व्यवसाय पूरी तरह से बंद हो गए हैं।ऐसी परिस्थिति में  भिवंडी शहर और ग्रामीण क्षेत्र की जनता के लिए बिजली के बिल का भुगतान  एक गंभीर समस्या बनती जा रही है, इसलिए समाजवादी पार्टी मांग कर रही है कि पावरलूम कारख़ानों के  अलावा घरेलू उपभोक्ताओं को भी बिजली बिल में छूट देते हुए उनका तीन महीने के बिजली बिल  माफ किया जाये ।

Post a comment

Blogger