Ads (728x90)

-उपविभागीय अधिकारी ने मनपा उपायुक्त को भेजा नोटिस

भिवंडी।एम हुसेन। लॉकडाउन के दौरान मजदूरों,बेघर एवं जरूरतमंदों को तत्काल राशन उपलब्ध कराने की व्यवस्था करने एवं भोजन देने के लिये कम्युनिटी किचन शुरू करने का आदेश भिवंडी  उपविभागीय अधिकारी डॉ. मोहन नलदकर ने मनपा आयुक्त डॉ. प्रवीण आष्टीकर एवं उपायुक्त मुख्यालय दीपक कुर्लेकर को दिया था । मनपा द्वारा कोई व्यवस्था न करने के कारण उपविभागीय अधिकारी  डॉ. मोहन नलदकर ने मनपा प्रशासन की इस घोर लापरवाही पर दुःख व्यक्त करते हुये मनपा को नोटिस दिया है। जिसमें मनपा आयुक्त एवं उपायुक्त को तत्काल स्पष्टीकरण देने का आदेश दिया गया है। उपविभागीय अधिकारी की इस कार्रवाई से कम्युनिटी किचन के नाम पर शहर में जगह-जगह बैनर  लगाकर  केवल कागजों पर काम करने वाली मनपा की कलई खुल गई है। 
 ज्ञात हो कि  कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को रोकने के लिये सरकार द्वारा लॉकडाउन करके कर्फ्यू लगाये जाने के कारण सभी उद्योग धंधों सहित छोटे बड़े  सभी कारोबार बंद हो गये हैं। मजदूर बहुल्य शहर भिवंडी में दूसरे राज्यों से आने वाले मजदूरों की संख्या काफी अधिक है, यहां के मजदूरों सहित दैनिक मजदूर एवं बेघर लोगों के सामने भुखमरी की समस्या खड़ी हो गई है जो एक गंभीर समस्या बनते जा रही है।  जिसको लेकर ठाणे जिलाधिकारी डॉ. राजेश नार्वेकर ने भिवंडी के उपविभागीय अधिकारी डॉ. मोहन नलदकर द्वारा मनपा प्रशासन को मजदूरों एवं बेघर लोगों सहित जरूरतमंदों  के लिये तत्काल राशन की वयवस्था कराने एवं  भोजन आदि उपलब्ध कराने का आदेश दिया  था । 
 इस संदर्भ में  उपविभागीय अधिकारी डॉ. मोहन नलदकर ने जिसके लिये मनपा आयुक्त डॉ. प्रवीण आष्टीकर एवं उपायुक्त मुख्यालय दीपक कुर्लेकर सहित प्रभाग समितियों के सहायक आयुक्तों के साथ चार बार बैठक लिया था। जिसमें प्रभाग समिति के अनुसार बेघर लोगों के लिये रहने की व्यवस्था करने, मजदूरों को राशन देने एवं जरूरत मंद लोगों को तत्काल  भोजन उपलब्ध कराने के लिये कम्युनिटी किचन तैयार करने का निर्देश दिया था।लेकिन मनपा प्रशासन ने कोरोना जैसी महामारी के इस संकट के दौरान भी जिलाधिकारी एवं उपविभागीय अधिकारी के आदेशों पर ध्यान नहीं दिया। जिसके कारण पहले लॉकडाउन की 21 दिन का समय समाप्त हो गया है और लॉकडाउन दो शुरू हो गया है। लेकिन आज तक भिवंडी  मनपा कोई व्यवस्था नहीं कर पाई है। मनपा प्रशासन की इस प्रकार  की घोर लापरवाही पर उपविभागीय अधिकारी डॉ. मोहन नलदकर ने मनपा आयुक्त डॉ. प्रवीण आष्टीकर एवं उपायुक्त मुख्यालय दीपक कुर्लेकर को नोटिस देकर तत्काल स्पष्टीकरण की मांग की है। 
मनपा प्रशासन द्वारा पांचो प्रभाग समितियों में कम्युनिटी किचन बनाया गया है, जिसकी सूची भी जारी कर दी गई है, कम्युनिटी किचन के नाम पर शहर में जगह-जगह बैनर लगा दिया गया है। मनपा द्वारा नगरसेवकों सहित समाजसेवकों की एक सूची भी जारी की गई है, जिसमें बताया गया है कि रोजाना मजदूरों को भोजन  खिलाया जा रहा है। नगरसेवकों सहित उन समाजसेवकों के लिये शासन की ओर से  राशन आदि भी एलॉट कर दिया गया है, लेकिन जमीनी स्तर पर कुछ नहीं है,सब कुछ  कैवल कागज पर है।

 भिवंडी शहर जिला कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता इकबाल सिद्दीकी ने बताया कि मनपा प्रशासन द्वारा बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार करने के लिये समाजसेवकों एवं नगरसेवकों की जो सूची बनाई गई है, उसमें कई लोग ऐसे हैं जिन्होंने एक मजदूर को भी  भोजन नहीं दिया गया  है।कई लोग ऐसे हैं जिन्होंने एक-दो दिन  भोजन देने के बाद नहीं दिया, लेकिन उनके नाम के सामने 1000-1200 मजदूरों को रोजाना  भोजन  उपलब्ध कराने की जानकारी दी गई है। मनपा के उन अधिकारियों के विरुद्ध कार्रवाई की जानी चाहिये ,जिन्होंने इस प्रकार की सूची बनाकर शहर  के नागरिकों सहित राज्य सरकार को गुमराह करने की कोशिश की है ।
 कम्युनिटी किचन के बारे में जानकारी लेने के लिये मनपा आयुक्त डॉ. प्रवीण आष्टीकर को फोन लगाने पर उन्होंने फोन नहीं उठाया, जनसंपर्क अधिकारी मिलिंद पलसुले द्वारा पूछे जाने  पर उन्होंने बताया कि मनपा  भोजन नहीं बना रही है  केवल कोआर्डीनेट कर रही है। इस मामले में प्रभाग समिति क्रमांक एक के सहायक आयुक्त बालाराम जाधव ने जानकारी देते हुए  बताया कि संगमपाड़ा  क्षेत्र  में मनपा का कम्युनिटी किचन जल्द ही  शुरू होने वाला है ।    

Post a comment

Blogger