Ads (728x90)


भिवंडी ।एम हुसेन। लॉकडाउन के दौरान मजदूरों एवं ज़रूरतमंदों के घर तक  भोजन उपलब्ध कराने के लिये सामाजिक संस्था श्री भैरव सेवा समिति ने किचन कंट्रोल रूम की स्थापना किया है। कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण पर रोक लगाने के लिये जहां से प्रतिदिन हजारों मजदूरों को उनके घर तक   काजन का पैकेट पहुंचाया जा रहा है।वहीं  श्री भैरव सेवा समिति के कार्यकर्ताओं द्वारा   भोजन बनाने  से लेकर उसे मजदूरों तक पहुंचाने में स्वास्थ्य के सुरक्षा का विशेष ध्यान दिया जा रहा है ।
   उपविभागीय अधिकारी डॉ. मोहन नलदकर द्वारा शहर की सामाजिक संस्था श्री भैरव सेवा समिति को कम्युनिटी किचन की मान्यता प्रदान की गई है। जिन्हें सुबह 10 हजार और शाम को 10 हजार पैकेट  भोजन बनाने की व्यवस्था करने की अनुमति दी गई है, जिसको लेकर श्री भैरव सेवा समिति के अध्यक्ष पुष्पतराज जैन ने कहा है कि राशन की पर्याप्त व्यवस्था न होने के कारण सुबह और शाम दोनों समय चार-चार हजार  भोजन का पैकेट तैयार करके तहसीलदार शशिकांत गायकवाड़ के सुपुर्द कर दिया जायेगा ।
  इसी प्रकार  ग्रामीण  क्षेत्रों में  दी गई है 10 जगहों में कम्युनिटी किचन की मान्यता ,
  ग्रामीण  क्षेत्र  के गोदामों में हजारों की संख्या में मजदूर काम करते हैं। स्थलांतरित मजदूर होने के कारण उनके पास राशन कार्ड भी नहीं है, जिसके कारण उनके सामने भी  भोजन की समस्या उतपन्न हो गई है । जिसके लिये उपविभागीय अधिकारी डॉ. मोहन नलदकर ने तहसीलदार शशिकांत गायकवाड़ एवं गटविकास अधिकारी प्रदीप घोरपड़े सहित राजस्व विभाग के अधिकारियों की एक बैठक लेकर ग्रामीण क्षेत्र में जिला परिषद स्कूल काल्हेर,दापोड़ा,सोनाले,खोनी,शेलार,कारीवली,आठगांव विद्या मंदिर कोनगांव,सरवली क्रीड़ांगण,शारदा विद्यालय पड़घा एवं धामनगांव गोदाम सहित 10 जगहों पर कम्युनिटी किचन की मान्यता दी गई  है। जहां स्थानीय तलाठी एवं ग्राम विकास अधिकारी के नेतृत्व में दोनों समय मजदूरों को भोजन बनाकर दिया जायेगा। मजदूरों को रोजाना निःशुल्क दिन में 12 बजे से दो बजे तक और सायंकाल 7 बजे से 9 बजे तक  भोजन  उपलब्ध कराया जायेगा । उपविभागीय अधिकारी डॉ. मोहन नलदकर ने  क्षेत्र  के व्यवसायियों एवं दानवीरों से मजदूरों को  भोजन उपलब्ध कराने की व्यवस्था में सहयोग करने का अनुरोध किया है । 

Post a comment

Blogger