Ads (728x90)

भिवंडी ।एम हुसेन।  कोरोना  वायरस बढते संक्ररमण को रोकने के लिए देश भर में  लॉकडाउन व संचारबंदी  की गई है।जिसकारण  ईट भट्टी पर मजदूरी करने वाले भूखे पेट जीवन  व्यतीत करने वाले  आदिवासी  परिवार सही  मायनों में अनेक प्रकार के   संकट से  जूझ रहे हैं ।जिसकारण  तंग आकर असंख्य  परिवार  अपने गावं पैदल प्रवास करने के लिए निकल गए हैं तथा जो  मजदूर  ईटभट्टी पर आज भी कार्यरत हैं । इस प्रकार की जानकारी कुटुंब  जिला परिषद अध्यक्षा दीपाली पाटील व महिला व बाल कल्याण समिति सभापति सपना  राजेंद्र भोईर  ने भेटवार्ता  कर उन्हें  स्थलांतर न करने  बाबत  देते हुए  बच्चों  व गर्भवती महिलाओं को  पौष्टिक  आहार उपलब्ध कराया, मास्क व टूथपेस्ट वितरित  किया गया है।
      भिवंडी  तालुका के असंख्य  किसान खेती के साथ  धंदा  के रूप में  ईटभट्टी व्यवसाय करते हैं।  दिसंबर  से  मई अंत तक  चलने वाले  ईटभट्टी पर मजदूरी करने के लिए  ठाणे व पालघर  जिला से हजारों आदिवासी  कुटुंब  स्थलांतरित हो रहे हैं।  परंतू दो महीने से  भयंकर बीमारी  कोरोना वायरस जैसे रोग की रोकथाम के लिए  लाॅक डाउन  की घोषणा कर दी गई है जिसकारण   देशभर में   उद्योग , व्यवसाय ठप्प  हो गए हैं,  ईटभट्टी व्यवसाय भी बंद पडा है,जिसकारण  अनेक आदिवासी मजदूर  परिवार  काम बंद करके  गांव पैदल पदयात्रा कर घरके लिए निकल गए हैं।परंतु  ऐसी  परिस्थिति में आज  भी  असंख्य  ईटभट्टी मजदूर काम की जगह पर रहते हैं  गिसका  निरीक्षण  करने के लिए  ठाणे जिला परिषद की  अध्यक्षा दिपाली पाटील ,महिला व बाल कल्याण समिति सभापति सपना राजेंद्र भोईर ,महिला व बाल कल्याण विभाग उपमुख्य कार्यकारी अधिकारी संतोष भोसले ,गटशिक्षणाधिकारी नंदिनी पाटील ,भाजपा जिला उपाध्यक्ष राजेंद्र भोईर ,दिलीप पाटील ,श्रमजीवी संघटना तालुकाध्यक्ष सुनील लोणे आदि ने दाभाड परीसर के  ईटभट्टी पर आदिवासी मजदूर परिवार से भेटवार्ता  कर वहां  अंगणवाडी  में आने वाले   बालकों व  गर्भवती महिलाओं को पौष्टीक आहार वितरण कर  ईटभट्टी पर सभी मजदूर परिवारों को  मास्क ,बच्चों को  चाक्लेट बिस्कुट ,टुथपेस्ट वितरण  किया गया । उक्त  मजदूर  परिवारों को यह परिस्थिति है  जिन्हें  वहीं रहना है  और  जिला परिषद प्रशासन  अन्न  अंगणवाडी के सेविकाओं के माध्यम से  उपलब्ध कराया जाएगा इस प्रकार का  आश्वासन सभापति सपना भोईर  ने  दी है। 

Post a comment

Blogger