Ads (728x90)

-
कोरोना वायरस के बढते संक्रमण को रोकने के लिए सरकार द्वारा लाॅकडाउन किया गया है। परंतु  लॉकडाउन के दौरान नागरिकों को आवश्यक सुविधायें उपलब्ध कराने के लिये कूड़ुस की बाज़ार हर दूसरे दिन लगती थी,इस बाजार में  किराना एवं सब्जी-भाजी सहित आवश्यक सुविधायें उपलब्ध कराने वाली दुकानें खोली जाती थीं। लेकिन पड़ोसी शहर भिवंडी में दिनोदिन बढ़ रहे कोरोना के मरीजों को लेकर सतर्कता के चलते  कूड़ुस ग्राम परंचायत  द्वारा  एक कड़ा कदम उठाते हुये कूड़ुस बाज़ार को एक सप्ताह के लिये बंद रखने का निर्णय लिया गया है ।जिसके तहत कूड़ुस बाज़ार की सभी दुकानें 26 अप्रैल से  1 मई तक एक सप्ताह के लिये पूरी तरह से बंद रहेंगी, लेकिन दूध एवं दवाओं की दुकाने खुली रहेंगी। 
  बतादें कि कूड़ुस बाजार आसपास के 52 गांवो का बाजारपेठ है,जहां प्रतिदिन हजारों नागरिक बाज़ार हाट करने के लिये आते हैं। ग्राम पंचायत,पुलिस एवं तहसील कार्यालय के अधिकारियों द्वारा बार-बार निर्देश दिये जाने के बावजूद भी कूड़ुस बाज़ार में आने वाले लोग कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के रोकथाम के लिये सामाजिक अंतर का पालन नहीं कर रहे थे। तथा ग्राम पंचायत के अधिकारियों ने कूड़ुस के नजदीक भिवंडी मनपा सहित ग्रामीण क्षेत्रों  में बड़ी तेजी से कोरोना संक्रमित मरीज बढ़ रहे हैं, जिसके कारण कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिये ग्राम पंचायत द्वारा बाज़ार को 26 अप्रैल से 1 मई तक बंद रखने का निर्णय  लिया गया है ।बाज़ार में दूध एवं दवाओं के अलावा अन्य सभी दुकाने एक सप्ताह के लिये पूर्ण रूप  से बंद रहेंगी ।उक्त जानकारी देते हुये ग्राम विकास अधिकारी अनिरुद्ध पाटील ने बताया कि ग्राम पंचायत ने एक सप्ताह के लिये बाज़ार बंद करने का निर्णय कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण की सवाधानी के लिये लिया है।उक्त संदर्भ में  सरपंच छबि तुबंड़े ने कोरोना वायरस के बढ़ते प्रसार को रोकने के लिये ग्राम पंचायत की सूचना का पालन करते हुए सहयोग करने का अनुरोध नागरिकों से किया है ।     

Post a comment

Blogger