Ads (728x90)

हल्द्वानी से विशेष संवाददाता  मुकेश कुमार की रिपोर्ट

कोरोना के कहर से पूरी दुनिया के अधिकतर देश परेशान है वही भारत की लाइफ लाइन कही जाने वाली भारतीय रेल कोरोना से यात्रियों को बचाने के लिए अनेक उपाय योजना कर रही है।बता दे कि कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों सबसे ज्यादा असर परिवहन व्यवस्था पर पड़ रहा है, पिछले 3 दिनों के भीतर काठगोदाम रेलवे स्टेशन में 50 हज़ार रुपये से ज्यादा के टिकट कैंसिल हो गए हैं, नई बुकिंग भी नही हो रही हैं, काठगोदाम रेलवे स्टेशन से संपर्क क्रांति, शताब्दी एक्सप्रेस के अलावा बाघ एक्सप्रेस संचालित होती है जिससे स्टेशन खासा गुलज़ार रहता था, लेकिन अब अधिकतर समय यहां सुनसानी है, कोरोना वायरस को देखते हुए हर आने जाने वाली ट्रेन को सेनेटाइज किया जा रहा है, ट्रैन के कोच, दरवाजे, हैंडिल, खिड़की के अलावा रेलवे स्टेशन के अंदर बाहर, बैठने वाली हर जगह सफ़ाई की जा रही है, रेलवे अधिकारियों, कर्मचारियों का एक ग्रुप बनाया गया है, जिसमें कोरोना वायरस से जुड़ी हर छोटी बड़ी जानकारी, ट्रेन सेनेटाइज औऱ सफाई व्यवस्था की अपडेट दी जा रही है, काठगोदाम के स्टेशन अधीक्षक चयन राय के मुताबिक लगातार टिकट कैंसिल हो रहै है जो रेलवे के लिये ख़ास नुक़सान है लेकिन पहले देश है लिहाज़ा कोरोना से बचना औऱ लोगो को बचाना है, इसलिए रेलवे कोरोना से जुड़े मामले में कोई लापरवाही नही बरतेगा।

Post a comment

Blogger