Ads (728x90)

भिवंडी ।एम हुसेन। कोरोना वायरस के बढ़ते प्रभाव के प्रतिबंधात्मक उपाय के लिये    भिवंंडी  मनपा आयुक्त के आदेश के बाद अत्यावश्यक सेवाओं को छोड़कर भिवंडी के अधिकांश पावरलूम कारखानों सहित व्यापारिक प्रतिष्ठान एवं दुकानें आदि पूर्ण रूप से  बंद रही । पुलिस ने कड़ा कदम उठाते हुये 19 मार्च की रात से पान-बीड़ी की दुकानों को बंद करा दिया था, लेकिन शहर की लगभग सभी मस्जिदों में जुमा की नमाज अदा करने वालों की भारी भीड़ लगी रही।
 बतादें कि मनपा आयुक्त द्वारा कोरोना वायरस के बढ़ते प्रभाव के प्रतिबंधात्मक उपाय योजना के लिये राज्य सरकार एवं जिलाधिकारी ठाणे के आदेश पर तीन दिन के लिये बंद करने का आदेश दिया था। मनपा आयुक्त ने सब्जी-भाजी,दूध,दवा,होटल,मजदूरों की बिस्सी एवं जीवनावश्यक वस्तुओं को छोड़कर शहर के सभी पावरलूम कारखानों, साइजिंग,डाइंग एवं प्रोसेस इकाइयों सहित मोती काखानों,दुकानों और व्यापारिक प्रतिष्ठानों को 19 मार्च की रात से तीन दिन के लिये बंद रखने का आदेश दिया था।जिसके बाद पुलिस ने पान-बीड़ी की दुकानों को 19 मार्च की रात से ही बंद करा दिया था ।
    मनपा आयुक्त के इस आदेश के बाद शुक्रवार को भिवंडी के अधिकांश पावरलूम एवं मोती कारखानों,साइजिंग,डाइंग एवं प्रोसेस इकाइयों सहित व्यापारिक प्रतिष्ठान एवं दुकानें आदि बंद रही। भिवंडी की प्रमुख बाज़ार,बाजार पेठ, तीनबत्ती,मंडई,शिवाजी चौक,कल्याण रोड,वंजारपट्टी नाका ,धामनकर नाका, पद्मानगर,कामतघर,अंजुरफाटा,दीवानशाह,भंडारी कंपाउंड सहित शहर के अधिकांश  क्षेत्रों  की दुकानें आदि पूर्ण रूप से  बंद रही ।इसी प्रकार  कल्याण रोड स्थित लाहोटी कंपाउंड  का कपड़ा मार्केट पूर्ण रूप से  बंद रहा। चाय एवं पान की दुकानें भी पूरी तरह से बंद रही। पुलिस अधिकारी सड़क पर उतरकर दुकानदारों आदि से बंद करने का अनुरोध करते रहे। लेकिन मनपा आयुक्त के आदेश के बाद भी मनपा का कोई अधिकारी अथवा कर्मचारी बंद कराने के लिये सड़क पर नहीं आया । 
 जिलाधिकारी द्वारा आपदा प्रवंधन कानून लागू किये जाने के बाद शहर में कहीं भी  अधिक भीड़ न जमा हो, इसके लिये शहर के सभी निजी,समाजिक एवं धार्मिक कार्यक्रमों को रद्द कर दिया गया है। मनपा आयुक्त सहित पुलिस द्वारा सार्वजनिक कार्यक्रम पर रोक लगा दिया गया है। पुलिस उपायुक्त राजकुमार शिंदे ने मुस्लिम भाइयों से अनुरोध करते हुये कहा था कि अपनी सेहत के लिहाज से अमल करना हमारा, आपका और हम सबका फर्ज है,इसलिए कोरोना वायरस के संक्रमण के खतरे को देखते हुये अपनी सेहत की हिफाजत के लिए जुमा की नमाज सहित आगामी शब-ए-बारात में भी इकट्ठा होने से बचें। लेकिन  जुमा की नमाज में मस्जिदों में हमेशा की तरह नमाज अदा करने वालों की भीड़ रही।  मस्जिदों के इमामों द्वारा कोरोना वायरस से बचने के लिये सभी सावधानियों के लिये सरकार द्वारा दिए गए दिशा निर्देश का पालन करने का अनुरोध किया गया है। और 
   नमाज अदा करने के लिये आने वाले अधिकांश  लोग मास्क अथवा रुमाल लगाकर आए थे ।      

Post a comment

Blogger