Ads (728x90)

भिवंडी ।एम हुसेन।यस बैंक द्वारा  उद्योग पतियों आदि को भारी मात्रा में आर्थिक कर्ज दिए गए हैं जिसका भुगतान न होने के कारण यस बैंक का सेंसेक्स भी 1300 के नीचे आ गया है, जिसे संज्ञान में  लेते हुए  भारतीय रिजर्व  बैंक ने  यस बैैंक द्वारा  अनियमितता बरतने के कारण  बैंक पर प्रतिबंध लगाते हुए  महीने भर में  केवल ५० हजार रुपये ही निकालने की अनुमति  खाता धारकों को दी है। भिवंडी शहर के धामणकर नाका  स्थित बैंक   शाखा के  बाहर बैंक खाता धारकों ने शनिवार को अपने  पैसे  निकालने के लिए  बैंक के बाहर भारी संख्या में  एकत्रित हुए थे,जिसमें
 महिलाओं की  संख्या  अधिक  थी । 
        गौरतलब है कि भिवंडी मजदूर बहुल क्षेत्र है और  यस बैंकपर रिजर्व बैंक ने  प्रतिबंध लगा दिया है जिसकारण इस बैंक के पावरलूम मजदूर  खातेदार चिंताग्रस्त  हो गए हैं,  जिसकारण  सर्वसामान्य बैंक के  ग्राहक अपनी जमा पूंजी  को बड़े  विश्वास के साथ  बैंक में जमा करते हैं परंतु इस  पैसों पर बैक द्वारा  बड़े पैमाने पर  अनियमितता बरती जा रही है  इसके लिए  नागरिकों में भारी  चिंता व  अंसंतोष व्यक्त किया जा रहा है। उल्लेखनीय है कि  बहुसंख्य व्यावसायिक आदि ने  शनिवार को अपने  काम पर
 गैरहाजिर रहकर बैंक के सामने अपने मेहनत की गाढी कमाई  के  पैसे  लेने के लिए  लाइन में खड़े  थे । विशेष  रूप से  बैंक के अन्य  सभी ऑनलाईन व्यवहार व एटीएम सुविधा भी बंद होने के कारण  बैंक ग्राहक प्रणव आंग्रे ने नाराजगी  व्यक्त की । इसी प्रकार  इस भयंकर परेशानी के लिए कम से कम  महीना भर के लिए  दस हजार रुपये  निकालने के लिए  सुविधा  एमटीएम में अवश्य रूप से देना  चाहिए इस प्रकार की   भावना व्यक्त की है।इसी प्रकार  तालुका के  भावाले स्थित से ऑल सेंट हायस्कूल  के  सभी शिक्षकों सहित कर्मचारियों के  वेतन व विद्यार्थियों की फी भी इसी  बैंक में  जमा की जाती थी ,इसी स्कूल में  सिपाही के रूप में  काम करने वाली महिलाओं को  एटीएम में पैसा न मिलने के कारण  बैंक के बाहर लाइन लगाने का समय आ गया है।   

Post a comment

Blogger