Ads (728x90)

 भिवंडी।एम हुसेन। भिवंडी के इंदिरा गांधी  उपजिला अस्पताल में कोरोना वायरस के लक्षण की एक संदेहास्पद महिला मरीज आई थी , जिसे जांच के लिये मुंबई के कस्तूरबा अस्पताल में भर्ती कराया गया था ,कस्तूरबा अस्पताल में जांच के बाद निगेटिव पाया गया । कोरोना के लक्षण निगेटिव पाये जाने से संदेहास्पद महिला के परिजन सहित इंदिरा गांधी उपजिला अस्पताल कर्मियों ने राहत की सांस ली है ।
     इंदिरा गांधी  उपजिला अस्पताल के चिकित्साधीक्षक डॉ. अनिल थोरात ने बताया कि भिवंडी की रहने वाली 60 वर्षीय एक महिला पिछले सप्ताह पुणे स्थित एक विवाह समारोह में शामिल होने के लिये गई थी, वह महिला पुणे में तीन दिन तक रहने के बाद सोमवार 9 मार्च की सुबह भिवंडी आ गई थी।लेकिन भिवंडी आने के बाद उसे बुखार,खांसी,शरीर में दर्द एवं सांस लेने में तकलीफ होने लगी  थी ।जिसके कारण उसके परिजनों ने स्थानीय चिकित्सक से उसका उपचार  कराया ,परंतु  निजी चिकित्सक से उपचार  कराने के बाद भी जब उसे कोई आराम नहीं हुआ तो उसके परिजन उसे  बुधवार की सुबह लगभग 12 बजे इंदिरा गांधी  उपजिला अस्पताल लेकर गये। जहां  चिकित्सकों  को जांच के दौरान उसमें कोरोना वायरस का लक्षण दिखाई पड़ा। कोरोना वायरस का लक्षण दिखाई पड़ने पर  चिकित्सकों  ने इसकी सूचना तुरंत चिकित्साधीक्षक अनिल थोरात को दिया। जिसके बाद कोरोना का लक्षण दिखाई पड़ने के कारण प्राथमिक उपचार के बाद उसे जांच व उपचार के लिए मुंबई के कस्तूरबा अस्पताल में भेज दिया गया था। कस्तूरबा अस्पताल में जांच के बाद कोरोना वायरस के लक्षण निगेटिव पाये गये ,कोरोना वायरस का लक्षण निगेटिव पाये जाने पर उसे अस्पताल से घर भेज दिया गया है तथा इंदिरा गांधी उपजिला अस्पताल प्रशासन व मनपा प्रशासन ने राहत की सांस  ली।

Post a comment

Blogger