Ads (728x90)

 भिवंडी ।एम हुसेन। राज्य की महाविकास अघाड़ी सरकार के विरोध में भाजपा भिवंडी शहर  जिलाध्यक्ष संतोष एम शेट्टी के नेतृत्व में  मोर्चा निकालकर प्रांत  कार्यालय के  सामने   धरना  आंनादोलन किया गया । धरना-प्रदर्शन के बाद भाजपा के एक शिष्टमंडल ने भिवंडी प्रांंताधिकारी  डॉ मोहन नलदकर की अनुपस्थिति में तहसीलदार शशिकांत गायकवाड़ को ज्ञापन सौंपा। इस अवसर पर सांसद कपिल पाटील,विधायक महेश चौघुले, तालुका अध्यक्ष पी.के.म्हात्रे ,   नगरसेवक   सुमित पाटील ,एड  हर्षल पाटील,श्याम अग्रवाल,यशवंत सोरे ,रवि सावंत, महिला अध्यक्ष ममता परमानी,विशाल पाठारे,रवि पाटील,नगरसेविका साखरा ताई , आदि भारी संख्या में  पदाधिकारी व कार्यकर्ता  उपस्थित थे ।
  बतादें कि महाविकास अघाड़ी सरकार के विरुद्ध भाजपा द्वारा  राज्यव्यापी  धरना प्रदर्शन किया जा रहा है। इसी क्रम में भिवंडी शहर भाजपा के जिलाध्यक्ष संतोष एम शेट्टी के नेतृत्व में भिवंडी प्रांत कार्यालय के सामने धरना-आंदोलन  का आयोजन किया गया था।उक्त  अवसर पर सांसद कपिल पाटील ने  राज्य की महाविकास अघाड़ी सरकार पर प्रहार करते हुये कहा कि यह सरकार केवल जनता को धोखा देने के लिये अस्तित्व में आई है । उन्होंने राज्य सरकार के 100 दिन के कामकाज की चर्चा करते हुये कहा कि 100 दिनों में राज्य सरकार कोई भी बड़ा काम नहीं कर पाई है ,किसानों की कर्जमाफी योजना में किसानों के साथ  केवल धोखाधड़ी की गई है । उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा आकस्मिक बारिश से परेशान किसानों की बहुत कम सहायता  की गई है ।जबकि सरकार में आने से पहले मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे सहित कांग्रेस-एनसीपी के नेताओं ने प्रति एकड़ 25 हजार रूपये देने की मांग की थी ,लेकिन सरकार में आने के बाद उसे भूल गये और मामूली  सहायता  करके अपना पल्ला झाड़ लिया है । सांसद पाटील ने कहा कि राज्य सरकार ने कर्जमाफी योजना के तहत किसानों के साथ धोखाधड़ी किया है । अघाड़ी सरकार के कार्यकाल में राज्य की महिलायें भी असुरक्षित हैं, महिलाओं पर अत्याचार व शोषण  बढ़ रहा है,महिलाओं की सुरक्षा को लेकर राज्य सरकार के पास कोई ठोस योजना न होने के कारण उनकी सुरक्षा का खतरा बढ़ता जा रहा है जो एक गंभीर समस्या बनते जा रही है । इसी प्रकार उक्त  धरना-प्रदर्शन को जिलाध्यक्ष संतोष शेट्टी,विधायक महेश चौघुले,पी.के.म्हात्रे,एड.हर्षल पाटील एवं नगरसेवक सुमित पाटील,निलेश चौधरी,प्रेमनारायण राय सहित अन्य लोगों ने भी संबोधित किया ।इसी प्रकार भाजपा के इस धरना-आंदोलन में 27 फरवरी को होने वाली एआईएमआईएम के प्रमुख ओवैसी की सभा का मुद्दा छाया रहा और लगभग सभी वक्ताओं ने उसे उठाया  है । 


Post a comment

Blogger