Ads (728x90)

-दो दर्जन स्वयं सेवक  हाथ में  वॉकीटॉकी लेकर तैनात रहेंगे

 भिवंडी ।एम हुसेन। शहर के मिल्लत नगर क्षेत्र स्थित ममता हॉस्पिटल के पास खुले मैदान में आज (शुक्रवार) से शाहीनबाग आंदोलन शुरू कर दिया जायेगा । जिसके लिये संविधान बचाओ संघर्ष समिति द्वारा लगभग सारी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं, शाहीनबाग आंदोलन में केेेेवल महिलायें ही शामिल होंगी। आंदोलन के पंडाल में पुरुषों को प्रवेश नहीं दिया जायेगा। लेकिन शाहीनबाग आंदोलन का संचालन करने के लिये एडवोकेट. किरण चन्ने को संयोजक एवं मोहम्मद अली शेख,मौलाना औसाफ़ फलाही एवं कॉम. विजय कांबले को सह संयोजक बनाया गया है। आंदोलन पर कड़ी नजर रखने के लिये आयोजकों द्वारा डेढ़ दर्जन से अधिक सीसीटीवी कैमरा लगाया गया है और आंदोलन में शामिल लोगों से संपर्क करने के लिये दो दर्जन से अधिक स्वयं सेवकों के हाथ में हर समय वॉकीटॉकी रहेगी । 
   एनआरसी,सीएए एवं एनआरपी का विरोध करने के लिये दिल्ली की तरह भिवंडी के मिल्लत नगर  क्षेत्र  स्थित ममता हॉस्पिटल के पास शाहीनबाग आंदोलन का आयोजन किया गया है ।शुक्रवार सायंकाल 4 बजे आंदोलन  का शुभारंभ  कर दिया जायेगा ।शाहीनबाग आंदोलन का शुभारंभ संविधान का उद्देश्य पढ़कर किया जायेगा। उसके बाद रात 10 बजे तक कौमी एकता गीत सहित विभिन्न कार्यक्रम  निरंतर  जारी रहेंगे । उक्त जानकारी देते हुये  शमीम अंसारी ने बताया कि शाहीनबाग आंदोलन  केवल  महिलाओं के लिये है ,इसमें पुरुषों को प्रवेश नहीं दिया जायेगा , आंदोलन में आने वाले पुरुषों के लिये अलग से पंडाल बनाया गया है ।
   उन्होंने बताया कि शाहीनबाग आंदोलन के पंडाल को डॉ.यासीन काजी एवं इंजी. के.के.दुर्राज की निगरानी में बनाया गया है, जहां आंदोलन में शामिल महिलाओं के प्रसाधन के 30 से 35  टाॅयलेट   बनाये गये हैं और उनके पीने के लिये शुद्ध पानी की व्यवस्था भी की गई है। आंदोलन में शामिल महिलाओं को किसी प्रकार की परेशानी न हो इसके लिये उनसे संपर्क करने के लिये दो दर्जन स्वयं सेवक 24 घंटे वॉकीटॉकी लेकर तैनात रहेंगे । पंडाल में आग बुझाने के लिए  यंत्र भी लगाया गया है । आंदोलन में आने वाले लोगों के लिए कंट्रोल रूम बनाया गया है, जिसमें शमीम अंसारी एवं तंजीम अंसारी सहित छह लोगों को लगाया गया है ।यातायात नियंत्रित करने के लिये 70 स्वयं सेवक लगाये गये हैं, जो 24 घंटे यातायात नियंत्रित करने के लिये  तैनात  रहेंगे ।आंदोलन में प्रकाश की व्यवस्था के लिये टोरेंट पावर कंपनी द्वारा अधिकृत रूप से बिजली का कनेक्शन लिया गया है । आंदोलन के लिये किसी भी  प्रकार  का कोई अनधिकृत काम नहीं किया गया है । आंदोलन से संबंधित जानकारी देने के लिये संविधान बचाओ संघर्ष समिति के संयोजक एडवोकेट. किरण चन्ने एवं सहसंयोजक मोहम्मद अली शेख,मौलाना औसाफ़ फलाही एवं कॉम. विजय कांबले को ही अधिकृत किया गया है । 
 इसी प्रकार  शमीम अंसारी ने बताया कि इस आंदोलन के लिये किसी से पैसा नहीं लिया गया है, जनता की लड़ाई जनता के पैसे से लड़ने की योजना बनाई गई है । जिसके लिये पंडाल में सहयोग बॉक्स रखा जायेगा । सहयोग करने वाले लोग अपनी खुशी से जो भी सहयोग करना चाहेंगें उसे सहयोग बॉक्स में डाल देंगे ।  

Post a comment

Blogger