Ads (728x90)

भिवंडी। भिवंडी  में संचालित  लियो किड्स स्कूल के  चेयरमैन  विकास जैन  के विरुद्ध  बलात्कार  के 21 माह के बाद का  पुलिस ने किया मामला  दर्ज  परंतु  12 दिन बीतने के बावजूद  पुलिस उसे गिरफ्तार करने में  साहस नहीं जुटा पा रही है।प्राप्त जानकारी के अनुसार  विकास जैन  ने अपनी ही एक महिला कर्मचारी को शीतल पेय में नशीली प्रदार्थ मिलाकर उसे अपनी हवस का शिकार बनाया  था और उसे धमकी भी दिया था कि यदि इस प्रकरण के संदर्भ में उसने  जुबान खोला  तो उसका वीडियो वायरल कर देगा।जिसके कारण भयभीत महिला ने अपने ऊपर हुए अत्याचार की शिकायत 21 माह के बाद भिवंडी शहर पुलिस स्टेशन में दर्ज कराया है।इसके  बावजूद बलात्कारी की इतने दिन बीतने के बाद भी गिरफ्तारी न होने से  शहर के लोग आश्चर्यचकित हैं।
       उल्लेखनीय है कि  भिवंडी शहर के नारपोली क्षेत्र स्थित में आगरी समाज उन्नति मंडल द्वारा लियो किड्स प्राइमरी स्कूल का संचालित  है जिसके  चेयरमैन  विकास जैन ने स्कूल के रिशेप्शन पर काम करने के लिए ठाणे की एक 35 वर्षीय महिला को  मासिक वेतन  15 हजार रुपए  के अनुसार  काम पर रखा था।लेकिन विकास जैन ने उक्त महिला को स्कूल के रिशेप्शन के काम पर न रखकर स्थानीय धामनकर नाका  क्षेत्र  स्थित ब्लू आई टावर  में पहले महले पर एक गाले में  फोन ऑपरेटर के काम पर रख दिया था ।महिला द्वारा दी गई शिकायत के अनुसार 30 मार्च 2018 को वह ऑफिस जल्द आने के चक्कर मे खाना नही लाई थी ,जबकि उसकी दूसरी कलीग भी अनुपस्थित  थी जिसकी जानकारी  होने के बाद स्कूल के  चेयरमैन  विकास जैन ने खुद महिला को खाने के लिए नाश्ता व कोल्ड़्रिंक लेकर आए ।महिला द्वारा लगाए गए आरोपों के अनुसार कोल्ड्रिंक में कोई नशीला प्रदार्थ मिला होने के कारण व बेहोश हो गई,जिसके बाद लियो किड्स स्कूल के  चेयरमैन   विकास जैन ने उसे जबरन अपनी हवस का शिकार बनाया।साथ ही उसने धमकी भी दिया था कि  यदि  उसके द्वारा किए गए कुकृत्य की बात  उसने  किसी को  बताया  तो सीसीटीवी में कैद हुए सारे मामले को वह वायरल कर देगा।महिला ने पुलिस में दर्ज अपनी शिकायत में बताया है कि जिसके बाद वह न  केवल  भयभीत हो   गई बल्कि स्कूल में काम करना भी बंद कर दिया और अपने साथ हुई घटना कृत्य को लेकर मन ही मन में  कुढने लगी।अंतत  उसके सब्र का  पैमाना लबरेज़ हो  गया और उसने महिला समाजसेवक स्वाति कांबले के साथ भिवंडी शहर पुलिस स्टेशन में जाकर शिकायत दर्ज कराया था। जिसके अनुसार  पुलिस ने  सीआर नंबर 591 में  भादंवि  376 के तहत घटना के 21 माह के बाद 18 दिसंबर 2019 को विकास जैन  के विरुद्ध मामला दर्ज  कर लिया  है। इस संदर्भ में मामले की जांच कर रहे पुलिस निरीक्षक अजय कांबले ने बताया कि  मामला  दर्ज करने के बाद से ही वह फरार हो गया है।जिसकी तलाश  बडी सक्रियता  से की जा रही है  और बहुत  जल्द हम उसे  गिरफ्तार कर लेंगे  । जबकि  सूत्रों  द्वारा प्राप्त जानकारी के अनुसार  बलातकार का  फरार आरोपी विकास जैन अग्रीम जमानत के लिए कोर्ट में याचिका दायर किया है जिसकी सुनवाई आगामी तीन जनवरी को होने वाली है ।परंतु पुलिस की  निष्क्रियता के कारण  आरोपी अपने बचाव के लिए  हरसंभव प्रयास कर रहा है  जिसे पुलिस फरार बता रही है  जिसपर  शहर के लोग आश्चर्यचकित हैं  परिणाम स्वरुप  पुलिस  की  भूमिका पर  प्रश्न  चिन्ह  लगाया जा रहा है?

Post a comment

Blogger