Ads (728x90)

 भिवंडी।एम हुसेन।वर्तमान  समय में स्कूल एवं महाविद्यालय के छात्र स्वास्थ्य वर्धक एवं पौष्टिक आहार खाने के बजाय बाहर चायनीज एवं जंक फ़ूड खाने पर ज्यादा जोर देते हैं, जिसका दुष्परिणाम पौष्टिक आहार से अनजान छात्रों के शरीर पर पड़ रहा है । जिसके कारण वह विभिन्न प्रकार की शारीरिक बीमारियों का शिकार हो रहे हैं। जिसके लिये स्कूल सहित महाविद्यालय के शिक्षकों को चाहिये कि वे छात्रों को स्वास्थ्य वर्धक एवं पौष्टिक आहार के संदर्भ में  उन्हें जानकारी दें ताकि छात्रों को बीमारियों का शिकार न होना पड़े ।
   उल्लेखनीय है  कि ठाणे अन्न व औषध प्रशासन विभाग एवं भिवंडी मनपा शिक्षा विभाग के अंतर्गत स्कूलों एवं महाविद्यालयों के छात्रों को सुरक्षित,स्वास्थ्य वर्धक एवं पौष्टिक आहार देने के संबंध में जानकारी देने के लिये कार्यशाला का आयोजन किया गया था। जिसमें स्कूली छात्र नाश्ता एवं भोजन के रूप में क्या खा रहे हैं ? उसे खाने से छात्रों के शरीर पर क्या प्रभाव पड़ता है ? छात्रों को संशोधित अनाज, पत्तेदार सब्जियां, स्वाभाविक रूप से उगाए गए फल, पौष्टिक भोजन पर ध्यान देना चाहिये। कुछ छात्र व्यायाम करने के साथ प्रथिन अथवा सप्लीमेंट का उपयोग मर्यादा से अधिक कर लेते हैं,जिसका दुष्परिणाम उनके शरीर पर पड़ता रहता है। अतिरिक्त प्रथिन एवं अन्य पूरक आहार लेने से भी उसका दुष्परिणाम होता है। इस अवसर पर मिलावटी पदार्थों की पहचान कैसे की जाये इस  संदर्भ  में प्रयोग करके बताया गया ।
    उक्त  अवसर पर ठाणे के अन्न व औषध प्रशासन विभाग के सहायक आयुक्त भूषण मोरे की छात्रों द्वारा मैदानी खेल में काफी कम खेलने के कारण उनमें शारीरिक परीश्रम करने में काफी कमी आई है। जिसके कारण छात्रों की जीवन शैली भी काफी बदल गई है, स्कूलों एवं महाविद्यालयों के बाहर गाड़ियों पर बिकने वाले खाद्य पदार्थ मानव जीवन के लिये बहुत हानिकारक है । स्वास्थ्य के लिये हानिकारक इस प्रकार के जंकफ़ूड एवं फास्टफ़ूड के  संदर्भ  में छात्रों को उनकी कक्षाओं में जागरूक करना अतिआवश्यक है। इस अवसर पर ठाणे के अन्न व औषध प्रशासन विभाग के सहायक आयुक्त भूषण मोरे,मनपा शिक्षा विभाग के उपायुक्त सुभाष झलके,शिक्षा मंडल के प्रशासनाधिकारी संदीप पाटील,अन्न व सुरक्षा अधिकारी वाई.वी. लोहकरे,एस.एम.वजरकर,ए.डी.खड़के,एस.के. राठौड़,मनपा के जनसंपर्क अधिकारी मिलिंद पलसुले एवं शिक्षा मंडल की कार्यालय अधीक्षिका नेहाला मोमिन सहित भारी संख्या में स्कूलों के मुख्याध्यापक एवं महाविद्यालयों के प्राचार्य उपस्थित थे ।
  उक्त अवसर पर सुभाष झलके- उपायुक्त, मनपा शिक्षा विभाग ने कहा कि
सुरक्षित,पौष्टिक एवं स्वास्थ्य वर्धक खाद्य पदार्थों के  संदर्भ  में जनजागृति करने के लिये सभी स्कूलों में कार्यशाला का आयोजन किया जायेगा ।

Post a comment

Blogger