Ads (728x90)

भिवंडी । एम हुसेन।  तालुका के वडूनवघर  गांव से सटे  ऐक छोटे से तालाब  एक अज्ञात वृद्ध महिला  का तोंड बांधे अवस्था में मृतदेह  मिलने से  परिसर में  सनसनी फैल गई थी  ।मृतदेह के वैद्यकीय अहवाल के अनूसार मृत वृद्धे के  सिर में भारी वस्तू से  प्रहार  कर  मृत्यु  होने की  पुष्टि हुई है। जिसकारण  भिवंडी तालुका पुलिस स्टेशन ने   भादंवि. धारा ३०२,२०१ प्रमाणे  मामला दर्ज कर लिया था ।इह हत्या प्रकरण की जांच  तालुका पुलिस  व स्थानिक  अपराध  शाखा  (एलसीबी ) पुलिस  उपनिरीक्षक चेतन पाटील आदि  पुलिस  पथक द्वारा शुरू करते ही विविध  पुलिस स्टेशन में  मृत वृद्ध  कौनसी महिला  लापता है अथवा  कैसे ? इस बाबत  जांच  करते ही उक्त  मृत महिला का  नाम सोनूबाई कृष्णा चौधरी ( ७०  निवासी .चौधरपाडा ) इस प्रकार की जानकारी मिली ।मृतका वृद्धा  यह २१ नवम्बर को  दोपहर २ बजे  के समय घर से  लापता  हुई थी इस बाबत मृत वृद्धा का  लडका माणिक कृष्णा चौधरी ने पडघा पुलिस स्टेशन में  शिकायत दर्ज कराया था ।
                  यह अपराध   गांभीर व परिसर तथा समाजम में  वृद्धां की सुरक्षा विषय को गंभीरतापूर्वक  प्रतिक्रया  को संज्ञान में लेते हुए  ठाणे ग्रामीण के पुलिस  अधीक्षक डॉ.शिवाजीराव राठोड तथा अपर पुलिस  अधीक्षक संजयकुमार पाटील  ने  प्रत्यक्ष रूप से  घटनास्थल पर पहुंच कर भिवंडी तालुका  पुलिस स्टेशन के   वरिष्ठ पुलिस  निरीक्षक संजय हजारे तथा स्थानिक  अपराध  शाखा के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक व्यंकट आंधवे को  इस आपराधिक घटना को  सुलझाने के लिए  आदेश दिए थे  ।जिसके अनूसार अधिकारी व पुलिस कर्मचारियों के  ३ पथक तैयार कर  अलग-अलग  जांच  शुरु करते हुए  उक्त  मामले की  जांच में  चौधरपाडा  से  वडूनवघर  के  दरम्यान के  प्रत्येक सीसीटीवी फूटेज तथा नागरिकों से गहन  पूछ ताछ  किया गया था ।जिसमें  मृतका के रिश्तेदार  व  पडोस में  रहने वालों  से  भी पूछ ताछ कर  जांच  की  गई ।परिणाम स्वरूप  स्थानिक  अपराध शाखा  के  पुलिस  उपनिरक्षक चेतन पाटील  को तांत्रीक विश्लेषनाद्वारा मृत वृद्धा के  घर के सामने रहने वाले  सोमनाथ रघुनाथ वाकडे ( ३५ ) की हालचाल पर संशयास्पद  होने  बाबत  जानकारी मिली  जिसकी  जानकारी इन्होनें  वपुनि.व्यंकट आंधले  को दी । इनके  आदेशानुसार अलग-अलग  पथक ने  सोमनाथ वाकडे व  उसकी पत्नी निलम वाकडे (३२ ) की  सक्रियता से  तलाश कर इनसे गहन पूछ ताछ किया गया तो इन दोनों ने उक्त  हत्या  करना  स्वीकार कर लिया। सोमनाथ वाकडेवर  बड़े पैमाने पर  कर्ज  में डूबा हुआ था, इसलिए  स्वयं एक मुंबई के  इंजिनियर की कार पर चालक  की नोकरी करते हुए निलम  चौधरपाडा स्थित  स्कूल में   अंगणवाडी सेविका  के रूप में  काम कर रही थी। इनके  एकत्रित वेतन से घर खर्च अच्छी तरह से नहीं  चल रहा था ।इसके बावजूद  सोमनाथ ने  हाल ही में  एक आयफोन,एक एअर कंडीशनर व होंडा शाईन मोटरसाइकिल इस प्रकार की  वस्तू हफ्ते पर  ले लिया था।  तीनों वस्तुओं का हफ्ता बकाया हो गया था  हफ्ता भरने का कैसे ? इस  चिंता में  दोनों थे कि त सोनूबाई  को प्रति   महीना १८ हजार रुपये  पेन्शन  मिलती थी  जिससे  उन्होंने  बड़े पैमाने पर  सोने का आभूषण  ख़रीद कर  वह हमेशा पहने रहते थी  ।इस की जानकारी  निलम  को थी, जिसकारण  २१ नवम्बर को  दोपहर के समय भोजन  करने के बाद  मृत सोनूबाई  को गप्पे मारने के लिए  आरोपी  के घर आने पर इनके  शरीर के  आभूषण  विक्रीर कर पैसे मिलने की  हवस में आरोपी  नीलम ने कपडे धोने के लिए प्रयोग किये जाने वाले  डंडे से  सोनुबाई  के सिर पर  मार कर  हत्या कर दी   व आरोपी सोमनाथ ने  साक्ष्य नष्ट करने के लिए  अपने पास की होंडा सीटी कार में  मृत सोनूबाई का  शव वडूनवघर  स्थित  तालाब में  फेक दिया था  जिसकी पुष्टि स्वयं इसने की ।आरोपी  महिला यह क्राईम पेट्रोल व सावधान इंडिया इस कार्यक्रम  को देखने के बाद  इसने  इस घटना को अंजाम देने की बात स्वीकार कर लिया है।  आरोपी सोमनाथ वाकडे व नीलम वाकडे  को पुलिस ने  गिरफ्तार कर लिया है इनके पास से  पुलिस ने  हत्या में  प्रयोग की गईं  एक होंडा सीटी कार तथा मृत सोनूबाई के शरीर के सोने के गंठण,चेन,मण्यांची माल व एक कर्णफूल  इस प्रकार  कुल २ लाख ९०  हजार ५००रुपये कीमत के  सोने  के आभूषण  जब्त  कर लिया है।उक्त  दोनों को  भिवंडी न्यायालय में  पेश किया गया जिसे  मा न्यायालय ने  पांच दिन  तक पुलिस  हिरासत में  रखने का आदेश  दिया है ।उक्त  हत्या  प्रकरण की विस्तृत जांच  एपीआय दीपक भोई कर रहे हैं। 


Post a comment

Blogger