Ads (728x90)

-६६ लाख १५  हजार रुपये का यंत्र सामग्री किया  जब्त ,चार माफिया फरार

भिवंडी । एम हुसेन । भिवंडी ग्रामीण क्षेत्रों में खाड़ी के किनारे रेती माफियों ने अपना जाल बिछा कर रखा है, और समुद्र से सटे होने के कारण बड़े पैमाने पर इन रेती माफियों द्वारा अवैध रूप से समुद्रतटीय खाड़ीयों के रास्ते रेती उत्खनन किया जाता है । भिवंडी पुलिस प्रशासन  व शासन को इसकी  जानकारी होने के बावजूद भी इन रेती माफियों पर कायम स्वरुपी प्रतिबंध लगाने में असफल  साबित हो रहे हैं ।   गौरतलब है कि  भिवंडी प्रांत अधिकारी डॉ.मोहन नलंदकर व तहसीलदार शशिकांत गायकवाड को इस काले कारोबार की सूचना मिली थी,सूचना के आधार पर उन्होंने खाड़ी क्षेत्रों में सक्रिय रेती माफियों पर कार्रवाई करने के लिए  निवासी नायब तहसीलदार गोरख फडतरे ,महेश चौधरी ,मंडल अधिकारी चंद्रकांत राजपूत व अंजूर सजा के तलाठी बुधाजी हिंदोला को आदेश दिया था ।
   भिवंडी तहसील के महसूल विभाग व कोनगांव पुलिस ने एक संयुक्त टीम बना कर गुरुवार की सुबह से ही इन रेती माफिओं पर लगाम लगाने का कार्य आरम्भ किया ।कोनगांव पुलिस स्टेशन अंर्तगत आने वाली खाड़ी के किनारे से ४ सेक्शन पंप व २ लोहे के बार्ज (जहाज) कुल ६६ लाख १५  हजार रुपये का रेती निकालने के लिए  प्रयोग  की जाने वाली यंत्र सामग्री जब्त करलिया है। भिवंडी तहसील के महसूल विभाग के कर्मचारियों द्वारा जब्त की गई यंत्र सामग्री को गैस कटर की सहायता से वहीं पर नष्ट्र कर दिया गया ,इस कार्रवाई की जानकारी मिलते ही रेती माफियाओं ने छोटे जलयान से समुद्र की ओर पलायन कर गये.
        समुद्र व खाड़ी में अवैध रूप से रेती उत्खनन करने पर कोन गांव पुलिस ने अज्ञात रेती माफियाओं के विरुद्ध  भादंवि.कलम ३७९ ,४३९ ,३४ सहित महाराष्ट्र जमीन महसूल संहिता १९६६  की कलम ४८ ( ७) ,४८ ( ८ )के अनुसार  मामला दर्ज कर लिया है । इस प्रकरण की जांच वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक रमेश काटकर के मार्गदर्शन में  कोनगांव पुलिस कर रही तथा फरार रेती माफियाओ की तलाश कर रही है ।वहीं पर इस कार्रवाई से अन्य क्षेत्रों में सक्रिय रेती माफियाओं में हडकंम मचा हुआ है 

Post a comment

Blogger