Ads (728x90)

भिवंडी। एम हुसेन ।भिवंडी के सामाजिक कार्यकर्ता अनस अंसारी ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से  भेंटवार्ता कर  पावरलूम उद्योग एवं बिजली सहित शहर की विभिन्न समस्याओं कासमाधान करने का अनुरोध किया है। 
    सामाजिक कार्यकर्ता अनस अंसारी के साथ गये एक शिष्टमंडल ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से भेंटवार्ता करके उन्हें फूलों का गुलदस्ता देकर  स्वागत किया ।अनस अंसारी ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे का ध्यान भिवंडी की बिजली समस्या की ओर आकर्षित कराते हुए  बताया कि पावरलूम उद्योग पिछले कई वर्षों से बदहाली का शिकार है। नोटबंदी और जीएसटी के बाद यहां के पावरलूम उद्योग ने पूरी तरह से दम तोड़ दिया है। उन्होंने मुख्यमंत्री से बताया कि महंगी बिजली के कारण हजारों पावरलूम कारखाने बंद हो चुके हैं। ऐसे में पावरलूम उद्योग को जिंदा रखने के लिए सरकार की ओर से नीति बनाने और बिजली दरों को कम करने के साथ सब्सिडी उपलब्ध  कराने की जरूरत है। अनस अंसारी ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे द्वारा किए गए किसानों की कर्ज माफी की घोषणा का हवाला देते हुए उनसे अनुरोध किया कि किसानों की तरह भिवंडी के बुनकरों के लिए भी बकाया बिजली बिल पर विचार करते हुए माफ किया जाए। ताकि यहां के पावरलूम बुनकर भी कर्ज के बोझ से राहत पा सकें ।अनस अंसारी ने बताया कि देश में खेती के बाद सबसे अधिक रोजगार प्रदान करने वाले  पावरलूम उद्योग के साथ हमेशा सौतेला व्यवहार होता रहा है। लेकिन राज्य में शिवसेना-राकांपा-कांग्रेस गठबंधन की सरकार बनने के बाद बुनकर समाज की उम्मीदें बढ़ गई हैं  ।  उन्हें उम्मीद है कि राज्य की यह सरकार बुनकरों के साथ पूरा न्याय करेगी ।अनस अंसारी ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से मांग किया कि राज्य में मराठा आरक्षण की तरह मुस्लिम आरक्षण को बहाल किया जाए ,ताकि मुसलमानों के पिछड़ेपन को दूर किया जा सके ।महाराष्ट्र में यह तभी संभव होगा जब मुस्लिम नौजवानों को सरकारी नौकरियों और उच्च शिक्षण संस्थानों में आरक्षण दिया जाएगा ।


Post a comment

Blogger