Ads (728x90)

भिवंडी। एम हुसेन ।  भिवंडी मनपा अधिकारियों की मिलीभगत से मनपा  क्षेत्र  के भवन निर्माताओं का आतंक बढ़ता जा रहा है । जिसके लिये भवन निर्माता नई इमारत बनाने के लिये न्यायालय में विचाराधीन निजी संपत्तियों को तोड़ने से नही चूक रहे हैं।गौरतलब है कि  लगभग 80 पुरानी संपत्ति तोड़े जाने के कारण निजी सनपत्तिधारकों में अपनी संपत्तियों को लेकर जहां भय का वातावरण व्याप्त है वहीं मनपा के इस षडयंत्र के विरोध में स्थानीय नागरिकों में भारी असंतोष व्याप्त है ।
   ज्ञात  हो कि प्रभाग समिति क्रमांक पांच के प्रभुआली क्षेत्र  स्थित घर क्रमांक 28 संयुक्त स्वामित्व की पुश्तैनी इमारत है। इस इमारत में लोग रहते हैं, जिसके बटवारे का काम चल रहा है। जिसका विवाद भिवंडी न्यायालय एवं उच्च न्यायालय में प्रलंबित है। इसके बावजूद भवन निर्माता सुरेश कटारिया ने बिना कोई पूर्व सूचना दिये इस संपत्ति में नया निर्माण करने के उद्देश्य से पुराना निर्माण तोड़ दिया है। भवन निर्माता द्वारा इस इमारत में बने लगभग 80 साल पुराने शौचालय आदि तोड़ दिया गया है । मनपा रिकॉर्ड में पिछले 60 वर्षों से सोनू कुंभार के नाम पर दर्ज है। मनपा रिकॉर्ड एवं तालुका भूमिअभिलेख विभाग में शौचालय एवं पहले महले पर जाने के लिये बनाई गई सीढ़ी एवं रास्ता केशव कुंभार के नाम पर दर्ज है। भवन निर्माता द्वारा शौचालय जाने वाला मार्ग सहित सीढ़ी एवं दीवाल सहित शौचालय को तोड़कर ध्वस्त कर दिया गया है। जिसमें पत्रकार पंढरीनाथ कुंभार उनकी वृद्ध मां सहित उनका पूरा परिवार जन्म से रहता था ।पैतृक संपत्ति के बटवारे का मामला चल ही रहा था कि भवन निर्माता द्वारा जबरन गैरकानूनी निर्माण शुरू कर दिया गया। जिससे कुंभार परिवार सड़क पर आ जायेगा , पंढरीनाथ कुंभार ने भिवंडी शहर पुलिस स्टेशन में भवन निर्माता के विरुद्ध शिकायत दर्ज कराई है। उन्होंने मनपा आयुक्त सहित नगर विकास विभाग को वकील के माध्यम से नोटिस देकर नये निर्माण के लिये अनुमति न देने की मांग की है ।
 बतादें कि खुले में शौच न करने के लिये केंद्र सहित राज्य सरकार द्वारा घर में शौचालय बनाने के लिये जहां विभिन्न योजनायें चलाई जा रही हैं ,वहीं भवन निर्माता द्वारा बनाये गये शौचालय को तोड़ दिया गया है ।जिसके कारण उस इमारत में रहने वाले लोगों को शौच जाने के लिये भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। पंढरीनाथ कुंभार ने कहा है कि मनपा अधिकारियों की मिलीभगत से भवन निर्माताओं द्वारा इसी  प्रकार  से अनधिकृत निर्माण किया जा रहा है। मनपा आयुक्त डॉ. प्रवीण आष्टीकर को दिये गये पत्र में पंढरीनाथ कुंभार ने गैरकानूनी निर्माण करने वाले भवन निर्माता सहित उन्हें प्रश्रय देने वाले मनपा अधिकारियों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई करने  की मांग किया है । 
   इस प्रकरण को लेकर भवन निर्माता के मोबाइल पर संपर्क करने का प्रयास किया गया  लेकिन भवन निर्माता से कोई बात नहीं हो सकी है  ।


Post a comment

Blogger