Ads (728x90)

मनपा ने समय रहते 45 परिवारों को निकाला सुरक्षित बाहर।

 संवाददाता, भिवंडी ।भिवंडी मनपा क्षेत्र अंतर्गत प्रभाग क्रमांक 2 के सीमांतर्गत पीरानीपाड़ा स्थित चार महले की एक इमारत गिरने से हुई दो लोगों की मौत और छह लोगों के घायल होने की घटना अभी ताजी ही थी कि गैबीनगर  खान कंपाउंड के मोमिनपुरा स्थित चार महले की एक इमारत के पिलर में दरार आ गई। इमारत के पिलर में दरार आने की जानकारी मिलते ही उसमें रहने वालों  में अफरा तफरी मच गई थी। हालांकि पिलर में दरार आने की सूचना मिलते ही मनपा आपातकालीन विभाग ने उस इमारत में रहने वाले 45 परिवारों के लगभग 300 लोगों को तुरंत सुरक्षित बाहर निकालाा और मनपा द्वारा उसकी बिजली  जलापूर्ति खंडित करके इमारत बंद कर दी गई है। घटनास्थल पर शांतिनगर पुलिस का गार्ड एवं आपातकालीन विभाग के कर्मचारी तैनात कर दिए गए हैं।   
   मनपा सूत्रों के अनुसार खान कंपाउंड के मोमिनपुरा स्थित अयाज मोमिन की लगभग 15 वर्ष पुरानी चार महले की इमारत है जिसे मनपा ने 2018 में ही अतिधोखादायक घोषित करते हुए नोटिस दिया था। इस इमारत में रहने वालों ने इमारत का स्ट्रक्चरल ऑडिट कराकर उसका पुनर्निर्माण भी कराया था लेकिन पुनर्निर्माण कराने के बावजूद एक वर्ष के अंदर ही सोमवार की रात में उस इमारत के पिलर में दरार आ गई। इमारत के पिलर में दरार आने की जानकारी मिलते ही उसमें रहने वालों  में अफरा तफरी मच गई थी। इसकी सूचना मनपा प्रशासन को मिलते ही मनपा आपातकालीन विभाग एवं अग्निशमन दल के कर्मचारियों ने आनन-फानन में उस इमारत में रहने वाले 45 परिवारों के लगभग तीन सौ लोगों को सुरक्षित बाहर निकाला।   और
मनपा आपातकालीन विभाग ने इस इमारत में रहने वाले 45 परिवारों को बाहर निकालने के बाद सबसे पहले उसकी बिजली आपूर्ति एवं जलापूर्ति को खंडित करके इमारत को बंद कर दिया है। पीरानीपाड़ा में हुए हादसे से सबक लेते हुए मनपा द्वारा उसमें रहने वालों को सतर्क रहने के लिए इमारत में नोटिस लगा दिया है कि यह इमारत अतिधोखादायक है, यह इमारत खाली कराई गई है, इसमें कोई प्रवेश न करे। मनपा के सावधान करने के बावजूद यदि कोई उसमें प्रवेश करता है और कोई दुर्घटना होती है तो उसका जिम्मेदार मनपा प्रशासन नहीं होगा। घटनास्थल पर स्थानीय पुलिस का गार्ड एवं मनपा आपातकालीन विभाग को लगा दिया गया है।   
 पीरानी पाड़ा की चार महले की इमारत मुनव्वर बिल्डिंग गिरने से 22 परिवार बेघर हो गए थे, उनके रहने की अभी तक कोई वैकल्पिक व्यवस्था नहीं की गई है। उसके बाद फिर चार महले की एक इमारत का पिलर अचानक गिर गया जिसके कारण किसी भी दुर्घटना से बचने के लिए मनपा प्रशासन में उसमें रहने वाले 45 परिवारों को सुरक्षित बाहर निकाल दिया है। अब ये 45 परिवार भी बेघर हो गए हैं। उनका कोई आशियाना नहीं है।भिवंडी पूूर्व विधानसभा  के विधायक रुपेश म्हात्रे ने वेघर हुए लोगों के पुनर्वसन की मांग मनपा प्रशासन से की है।      

Post a comment

Blogger