Ads (728x90)

भिवंडी। एम हुसेन।यशवंत राव चव्हाण महाराष्ट्र ओपन यूनिवर्सिटी नाशिक द्वारा संचालित रईस हाई स्कूल एंड जूनियर कालेज स्टडी सेंटर से मई /जून 2019 में सम्पन्न बी.ए.अंतिम वर्ष की परीक्षा में सर्वाधिक अंक प्राप्त करके परीक्षा उत्तीर्ण करने वाले टॉप टेन छात्रों के लिए मार्कशीट एवं पुरस्कार वितरण समारोह का आयोजन रईस हाई स्कूल कैंपस भिवंडी के उर्दू बसेरा ऑडिटोरियम में किया गया। समारोह की अध्यक्षता पूर्व प्रधानाचार्य शिक्षा विद मोहम्मद हसन फ़ारूक़ी ने की।मुख्य अतिथि के रूप में के.एम.ई.सोसायटी के सचिव डॉ मुसद्दिक़ पटेल विशेष अतिथि के रूप में चेयरमैन मोहम्मद शफी मुकरी,उपप्रधानाचार्य आमिर सिद्दीकी,सहायक मुख्यध्यापक मुखलिस मदु,दैनिक इंक़लाब के उप सम्पादक क़ुतबुद्दीन शाहिद उपस्थित थे।स्टडी सेंटर के कोआर्डिनेटर अब्दुल अज़ीज़ अंसारी ने अतिथियों का परिचय प्रस्तुत किया तथा पुष्पगुच्छ से स्वागत किया। बता दें कि मई /जून 2019 में सम्पन्न बी. ए.अंतिम वर्ष की परीक्षा में रईस स्टडी सेंटर से कुल 223 विद्यार्थी शामिल हुए थे जिनमें 175 छात्रों ने प्रथम श्रेणी और 35 छात्रों ने द्वितीय श्रेणी अर्थात कुल 210 छात्रों ने सफलता प्राप्त की।जिसका कुल परिणाम 94.17 प्रतिशत रहा।समारोह में सर्वाधिक अंक प्राप्त करने वाले १० छात्रों को अतिथियों के हाथों पुरस्कृत किया गया।उर्दू विषय में सर्वाधिक अंक प्राप्त करने वाली छात्रा शेख हसीना महमूद को विशेष पुरस्कार से सम्मानित किया गया। मोहम्मद हसन फ़ारूक़ी ने अपने अध्यक्षीय भाषण में कहा कि इतनी बड़ी संख्या में स्नातक छात्रों को देखकर प्रसन्नता हो रही है हम कह सकते है कि हमारे बाद अँधेरा नहीं उजाला है,आप ने कहा कि तरक्की की कोई हद नहीं होती हमें चाहिए की हम भूतकाल को घटनाओं को देखें,भविष्य काल पर नज़र रक्खें और वर्तमान काल में कठिन परिश्रम द्वारा सफलता प्राप्त करें।सभी अतिथियों ने अपने सम्बोधन में कहा की डिग्री की क़द्र नहीं होती बल्कि इंसान के गुणों की क़द्र होती है। इस लिए जितना हो सके अपनी गुणवत्ता को बढ़ानाचहिये।उक्त अवसर पर भारी संख्या में बी.ए.उत्तीर्ण छात्र उपस्थित थे।समारोह का संचालन मोईनुद्दीन फलाही ने किया।अब्दुल अज़ीज़ अंसारी के आभार प्रदर्शन के साथ समारोह सम्पन्न हुआ। कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए शाहरुख़ शेख और काशिफुल इस्लाम ने अथक प्रयास किया है । 

Post a comment

Blogger