Ads (728x90)

दहीहंडी उत्सव के लिये भिवंडी पुलिस ने दिया दिशा निर्देश।

 भिवंडी। एम हुसेन ।शांतिनगर पुलिस स्टेशन द्वारा पूर्व विभाग के सहायक पुलिस आयुक्त नितिन कौसडीकर की अध्यक्षता में दही हंडी उत्सव मंडल के पदाधिकारियों की एक बैठक का आयोजन किया। जिसमें दही हंडी उत्सव का आयोजन करने के लिए सीसीटीवी कैमरा लगाने सहित उन्हें सभी कानूनी आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए दिशा निर्देश दिया गया है। इस बैठक में पुलिस के सभी अधिकारी सहित दही उत्सव मंडल के पदाधिकारियों एवं शांतता समिति के सदस्य उपस्थित थे।
  बतादें कि आगामी 23  अगस्त 019 को श्रीकृष्ण जन्माष्टमी है जिसके लिए 24 अगस्त को गोपालकाला के दिन शहर के विभिन्न क्षेत्रों में बड़े पैमाने पर दही हंडी उत्सव के कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है। दही हंडी उत्सव को सकुशल संपन्न कराने के लिए शांतिनगर पुलिस ने दही हंडी उत्सव मंडल के पदाधिकारियों की एक बैठक का आयोजन किया था। जिसमें वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक ममता डिसूजा ने दही हंडी का आयोजन करने वाले मंडलों से सभी आवश्यक नियमों को पूरा करने का निर्देश देते हुए कहा कि दही हंडी के आयोजन के लिए स्वेच्छा से ही आर्थिक योगदान देने वालों से चंदा लिया जाना चाहिए। दही हंडी के आयोजन में किसी भी अप्रिय घटना से बचने हेतु दहीहंडी स्टेज की क्षमता के अनुसार ही अतिथियों एवं सेलिब्रेटीज को बैठाया जाना चाहिए और दही हंडी को किसी बिजली के खंभे से नही बांधा जाना चाहिए। बिजली आपूर्ति उचित तरीके एवं ठेकेदार के माध्यम से लिया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि गोविंदा पथकों को बिजली सहित किसी भी दर्घटना से बचाने के लिए आयोजकों को सावधान रहना चाहिए। आयोजकों को दही हंडी उत्सव के पास सीसीटीवी कैमरा लगाना आवश्यक है।

पुलिस ने कहा कि दही हंडी उत्सव के दौरान प्रत्येक जगह देखने वालों की भारी भीड़ होती है, भीड़ के दौरान किसी भी आतंकी घटना से इंकार नहीं किया जा सकता है। जिसके लिए सुरक्षा की दृष्टि से दही हंडी के आयोजन के दौरान विशेष ध्यान देने के लिए वहां स्वंय सेवकों को रखना आवश्यक है। इसके अलावा गोविंदा के थर,ध्वनि प्रदूषण एवं स्टेज आदि के संबंध में उच्चतम न्यायालय द्वारा दिए गए दिशा निर्देशों को सख्ती के साथ पालन किया जाना चाहिए।
गोविंदा पथकों के लिए भी निर्देश
 किसी भी दुर्घटना से बचने के लिए गोविंदा पथक में शामिल सभी गोविंदा को हेल्मेट,सेफ्टी बेल्ट दिया जाना आवश्यक है। गोविंदा पथकों को शराब सहित किसी भी प्रकार की नशा नहीं करना चाहिए। गोविंदा पथक में छोटे बच्चों को किसी भी हालत में शामिल नहीं किया जाना चाहिए और सड़क दुर्घटनाओं को टालने के लिए गोविंदा पथकों को यातायात के नियमों का विशेष ध्यान रखना चाहिए। पुलिस ने अफवाहों पर ध्यान न देने का अनुरोध करते हुए कहा कि सोशल मीडिया के किसी भी पोस्ट की बिना जांच किए उसे फारवर्ड ना करें।  दही हंडी के आयोजन के दौरान वहां से आने जाने वाले लोगों को यातायात के लिए किसी भी प्रकार की असुविधा नहीं होना चाहिए इसका विशेष ध्यान रखें।         


Post a comment

Blogger