Ads (728x90)

भिवंडी। एम हुसेन ।बिना किसी सुरक्षा के अवैध रूप से  ज्वलनशील रासायनिक पदार्थों का भंडारण करने वाले गोदामों के विरुद्ध राजस्व विभाग द्वारा कार्रवाई शुरू कर दी गई हैै। उप विभागीय अधिकारी डॉ मोहन नलदकर  के आदेश पर राजस्व विभाग के अधिकारियों ने तालुका के विभिन्न क्षेत्रों के 86 गोदामों के विरुद्ध  कार्रवाई शुरू की है। जिसका गोदाम मालिक किसानों द्वारा कड़ा विरोध किया जा रहा है, पूर्णेश्वर टेम्पो एसोशिएशन के नेतृत्व में किसानों का एक शिष्टमंडल उप विभागीय अधिकारी डॉ. मोहन नलदकर को एक ज्ञापन देकर विरोध व्यक्त किया है।
    उल्लेखनीय है कि भिवंडी तालुका के पूर्णा,रहनाल,वल,काल्हेर,कशेली एवं कोपर सहित अन्य ग्राम पंचायतों में बने गोदामों में बिना किसी सुरक्षा एवं बिना किसी अनुमति के अवैध रूप से  ज्वलनशील रासायनिक पदार्थों का भंडारण किया जाता है। ज्वलनशील रासायनिक पदार्थों के कारण यहां के गोदामों में आए दिन आगजनी की घटनायें होती रहती हैं जिससे बड़े पैमाने पर आर्थिक नुकसान सहित जनहानि भी होती है। गोदामों में होने वाली आगजनी की घटनाओं को उच्च न्यायालय द्वारा संज्ञान में लिए जाने के कारण ठाणे जिलाधिकारी के आदेश पर भिवंडी के उप विभागीय अधिकारी ने राजस्व विभाग को कार्रवाई करने का आदेश दिया था। जिसके तहत राजस्व विभाग के अधिकारियों ने 86 गोदामों को सील करने की कार्रवाई शुरू कर दी थी।इस कार्रवाई का गोदाम मालिक किसानों ने कड़ा विरोध किया है। पूर्णेश्वर टेम्पो एसोशिएशन के अध्यक्ष सुनील भगत,वसंत टावरे,सुरेश चौधरी,दत्तू पाटील,विलास इताड़कर,रामचंद्र भगत,संजय पाटील एवं राजेश चौधरी के नेतृत्व में सैकड़ों गोदाम मालिक इस विरोध प्रदर्शन में शामिल थे।       उप विभागीय अधिकारी सौंपे  गए ज्ञापन में किसानों ने कहा है कि सरकार ने गोदाम मालिक किसानों एवं स्थानीय ग्राम पंचायत को अंधेरे में रखकर गोदामों के विरुद्ध यह कार्रवाई शुरू की है। जबकि यहां गोदामों से लोगों को बड़े पैमाने पर व्यवसाय एवं हजारों नागरिकों को रोजगार मिलता है। यहां गोदामों में भिवंडी ग्रामीण सहित ठाणे शहर, मुंबई,कल्याण,वसई,विरार सहित आसपास क्षेत्रों के हजारों की संख्या में नागरिक काम धंधे के लिए आते हैं।
    स्थानीय किसान यहां के गोदामों में टेम्पो व्यवसाय करके अपने परिवार का पालन पोषण करते हैं लेकिन गोदामों में रासायनिक पदार्थ रखने के कारण राजस्व विभाग द्वारा की जा रही कार्रवाई से हजारों लोगों के कामधंधे एवं व्यवसाय पर उसका  असर पड़ेगा। एसोशिएशन ने मांग की है कि हजारों नागरिकों को बेरोजगार होने से बचाने के लिए राजस्व विभाग द्वारा की जा रही यह कार्रवाई तत्काल प्रभाव से रुकनी चाहिए। एसोशिएशन के अध्यक्ष सुनील भगत ने चेतावनी देते हुए कहा है कि राजस्व विभाग द्वारा गोदामों को सील करने की यह कार्रवाई यदि बंद नहीं की गई तो आगामी ९ अगस्त को पूर्णा,रहनाल,वल,काल्हेर,कोपर,गुंदवली  एवं कशेली आदि क्षेत्रों के गोदामों को बंद करके तीव्र आंदोलन किया जाएगाा।
   ज्ञात हो कि राजस्व विभाग द्वारा जिन गोदामों को सील करने की कार्रवाई की जा रही है उसकी जानकारी न तो गोदाम के मूल मालिक को दी जा रही है और न ही ग्राम पंचायत को। राजस्व विभाग द्वारा किराये पर गोदाम चलाने वालों को नोटिस देकर गोदामों को सील करने का काम शुरू कर दिया गया है। गोदाम सील होने की जानकारी भी मूल गोदाम मालिक को नहीं हो पा रही है, गोदाम मालिक किसानों ने बताया कि कई ऐसे गोदाम हैं जो बंद पड़े हैं जिसमें कुछ भी नहीं रखा गया है। गोदामों में बिना किसी ज्वलनशील रासायनिक पदार्थ के रखे ही राजस्व विभाग के अधिकारी बिना जांच पड़ताल किये ही उसे सील करना शुरू कर दिए हैं|   
उक्त संदर्भ में डॉ. मोहन नलदकर , उप विभागीय अधिकारी, भिवंडी  ने बताया कि
राजस्व विभाग के अधिकारियों द्वारा ज्वलनशील रासायनिक पदार्थों का भंडारण करने वाले गोदामों के विरुद्ध जनहानि एवं धनहानि को रोकने के लिए उक्त कार्रवाई की जा रही है। बिना किसी सुरक्षा के अवैध रूप से  रासायनिक पदार्थों का भंडारण करने वाले गोदामों के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी।
 

Post a comment

Blogger