Ads (728x90)

संवाददाता, भिवंडी । कुर्बानी के जानवरों का अपशिष्ट ठिकाने लगाने के मामले में भिवंडी मनपा की पोल खुल गई है। पिछले तीन दिनों से खाड़ी से आ रही सडी दुर्गंध के कारण खाड़ी के किनारे स्थित अजयनगर,गोकुलनगर, कोंबलपाड़ा,ब्राह्मण आली सहित शिवाजी चौक के आसपास निवासियों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।
    ज्ञात हो कि बकरीद के अवसर पर भिवंडी में बड़े पैमाने पर जानवरों की कुर्बानी की गई थी, जानवरों की कुर्बानी के बाद निकलने वाले अपशिष्ट पदार्थ को मनपा ने ईदगाह रोड स्थित स्लॉटर हाउस के पीछे जमीन के अंदर गड्ढा बनाकर उसमें डालकर ऊपर से पर्याप्त मिट्टी डालने और उसके ऊपर कीटाणुनाशक एवं दुर्गंधनाशक औषध का छिड़काव करने की जानकारी दी थी। लेकिन मनपा कर्मचारियों की घोर लापरवाही के कारण जानवरों के अपशिष्ट पदार्थ के ऊपर मिट्टी कम डालने एवं दुर्गंधनाशक औषधि आदि का छिड़काव न करने के कारण उसका सड़ा पानी खाड़ी में बह रहा है। शिवाजी चौक के आसपास के रहिवासियों ने बताया कि जानवरों के सड़े हुए अपशिष्ट की दुर्गंध के कारण पिछले तीन दिनों से उनका घर में रहना दुश्वार हो गया है। यहां के लोगों ने बताया कि मनपा कर्मचारियों द्वारा पर्याप्त मिट्टी न डालने एवं दुर्गंधनाशक औषधि का छिड़काव न करने के कारण यह दुर्गंध आ रही है। बताया जाता है कि बरसात के कारण अपशिष्ट पदार्थ का सड़ा हुआ पानी खाड़ी में बह रहा है जिसकारण यह दुर्गंध आ रही है। 
  गोकुलनगर के रहने वाले कैलाशचंद्र मूंदड़ा एवं अजय नगर के अजीत छापडिया सहित आदि अन्य लोगों ने बताया कि तीन दिनों से आने वाली दुर्गंध के कारण यहां के लोग खिड़की-दरवाजा बंद करके रह रहे हैं। खिड़की अथवा दरवाजा खुलते ही दुर्गंध आना शुरू हो जाती है। यहां के घरों एवं आसपास सुगंध (डीओ) का छिड़काव करके काम चला रहे हैं। इसी प्रकार ब्राह्मणाली में रहने वाले मनपा के एक अधिकारी ने बताया कि अपशिष्ट पदार्थ के कचरे का पानी खाड़ी में आने के कारण इस प्रकार की दुर्गंध आ रही है। इस प्रकरण में मनपा आयुक्त अशोककुमार रणखांब से संपर्क करने का प्रयास किया गया लेकिन मीटिंग में व्यस्त होने के कारण उनसे संपर्क नहीं हो सका है।
सफाई के काम में घोर लापरवाही बरतने के कारण 
मनपा आयुक्त अशोकुमार रणखांब ने  प्रभाग समिति क्रमांक-एक के स्वास्थ्य निरीक्षक मधुकर विशे को निलंबित कर दिया है। हालांकि अशोककुमार रणखांब ने मनपा आयुक्त का पदभार संभालते ही कार्यालयीन एवं सफाई के मामलों में लापरवाही बरतने वाले कर्मचारियों के विरुद्ध कार्रवाई करने का संकेत दे दिया था। सफाई के मामले में कई शिकायत आने के कारण मनपा आयुक्त अशोकुमार रणखांब ने उन्हें निलंबित कर दिया है। इसी प्रकार साफ़-सफाई के मामले में लापरवाही करने के कारण स्थानीय नगरसेवक द्वारा शिकायत करने के बाद स्वास्थ्य विभाग के प्रभारी स्वास्थ्य निरीक्षक सतीश भोईर को भी निलंबित कर दिया गया है। दोनों कर्मचारियों को महाराष्ट्र मनपा अधिनियम 1949 की धारा 56 (2) एफ के अनुसार विभागीय जांच करने तक के लिए तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। दोनों कर्मचारियों को निलंबित किए जाने के कारण मनपा कर्मचारियों में हड़कंप मचा हुआ  है।

Post a comment

Blogger