Ads (728x90)

 -
महाराष्ट्र सरकार द्वारा यशवंतराव चव्हाण प्रतिष्ठान मुंबई में राज्य स्तरीय उत्कृष्ठ पत्रकारिता पुरस्कार वितरण समारोह का आयोजन किया गया जिसमें पत्रकारिता के क्षेत्र मैं सराहनीय योदान करने वाले पत्रकारों को सम्मानित किया गया। हर्ष का विषय है की प्रसिद्ध उर्दू दैनिक इंक़लाब के उप सहायक सम्पादक डॉ क़ुतबुद्दीन शाहिद को पत्रकारिता के क्षेत्र में उत्कृष्ठ योगदान के लिए राज्य के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडनवीस साहब के शुभ हाथो राज्य स्तरीय मौलाना अबुलकलाम आज़ाद पत्रकारिता पुरस्कार से सम्मानित किया गया। इस ख़ुशी के अवसर पर डॉ कुतबुद्दीन शाहिद के गृह शहर भिवंडी के उर्दू बसेरा ऑडिटोरियम में शहर के दो पत्रकारों मुफ़ज़्ज़ल हुसैन एवं फहीम अख्तर अंसारी  अख्तर द्वारा भब्य सत्कार समारोह का आयोजन रईस हाई स्कूल एंड ज्युनियर कालेज के प्रधानाचार्य ज़ियाउर्रहमान अंसारी की अध्यक्षता में किया गया।वक्ता के रूप में प्रसिद्ध कवि एवं हास्य व्यंगक लेखक मोहम्मद रफी अंसारी,अख्तर काज़मी,डॉ अब्दुस्सलाम अंसारी,शब्बीर फ़ारूक़ी,इक़बाल उस्मान मोमिन आदि उपस्थित थे।मुफ़ज़्ज़ल हुसैन ने कार्यक्रम की आवश्यकता एवं उपयोगिता पर प्रकाश डालते हुए अतिथियों का स्वागत किया।ज़ियाउर्रहमान अंसारी ने अध्यक्षीय भाषण में कहा कि एक ऐसा बालक जो प्रतिकूल परिस्थित के कारण नवीं कक्षा में ही अपनी पढ़ाई छोड़कर उत्तर प्रदेश से भिवंडी आता है। जीविका कमाने के साथ साथ शिक्षा प्राप्त करने की जिज्ञासा को भी ज़िंदा रखता है।फलस्वरूप डिस्टेंस एजुकेशन के माध्यम से ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेडुएशन की उपाधि प्राप्त करता है।राष्ट्रीय पात्रता परीक्षा (नेट)पास करने के बाद मुंबई यूनिवर्सिटी से पी.एच.डी.की डिग्री प्राप करने के बाद आज डॉ क़ुतबुद्दीन शाहिद के रूप में राज्य स्तरीय मौलाना अबुल कलाम आज़ाद पत्रकारिता पुरस्कार से सम्मानित होकर मंच पर बैठा है जिसके सत्कार के लिए हम सब यहां उपस्थित हैं। डॉ कुतबुद्दीन शाहिद के संघर्षशील जीवन,शिक्षा प्राप्त करने की जिज्ञासा,कठिन परिश्रम,दृढ़ निश्चय से हम सब को,विशेष रूप से नौजवानों को प्रेणा लेनी चाहिए और कठिन से कठिन परिस्थिति में भी जैसे भी हो जहां से भी हो शिक्षा ग्रहण करनी चाहिए।मंच पर उपस्थित सभी वक्ताओं ने अपने सम्बोधन में डॉ क़ुतबुद्दीन शाहिद की पत्रकारिता,समय का सदुपयोग,कार्य के प्रति निष्ठा को उनके कामयाबी का राज़ बताते हुए बधाई दी। इस अवसर पर आयोजक मंडल द्वारा प्रशस्ति पत्र,शाल,पुष्प गुच्छ एवं उपहार से सम्मानित किया गया तथा शहर की विभिन्न संस्थाओं जैसे साप्ताहिक सुब्ह वो शाम,बज़्मे याराने अदब,भिवंडी सोशल सोसायटी,रईस हाई स्कूल एंड ज्यु कालेज,अंजुमन फ़रोग़े तालीम,उर्दू क़बीला,रफीउद्दीन फकीह हाई स्कूल सहित लगभग दो दर्जन से अधिक लोगों ने क़ुतबुद्दीन शाहिद को शाल पुष्प गुच्छ और उपहार से सम्मानित किया और उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना की।डॉ क़ुतबुद्दीन शाहिद ने अपने मनोदगार व्यक्त करते हुए कहा कि आज मैं जो कुछ भी हूँ इसमें मेरे माता पिता,शिक्षकों और आप सब की दुआएं,अब्दुल जलील अंसारी और स्व.डॉ रेहान अंसारी की तरबियत और दैनिक इंक़लाब जहां मैं काम करता हूँ सभी का बहोत सराहनीय योगदान है। मैं कार्यक्रम के आयोजक मंडल,प्रशंसको और उपस्थित महानुभाओं के प्रति हार्दिक आभार व्यक्त करता हूँ।सत्कार समारोह में शहर के गणमान्य व्यक्तियों में पूर्व विधायक रशीद ताहिर मोमिन,एडवोकेट यासीन मोमिन,मुनीर अहमद मोमिन,एडवोकेट शाकिर अंसारी,मुख़्तार फरीद,चेयरमैन शफी मुकरी,मोहम्मद हसन फ़ारूक़ी,मलिक मोमिन,अब्दुल हसीब जामयी के अतिरिक्त विभिन्न विद्यालयों के प्रधानाचार्य शिक्षक,विद्यार्थी,पत्रकार  के आलावा बड़ी संख्या में लोग उपस्थित थे।समारोह का सूत्र संचालन पूर्व उपप्रधानाचार्य अब्दुल अज़ीज़ अंसारी और एडवोकेट सलीम यूसुफ शेख ने किया। फहीम अख्तर अंसारी के आभार प्रदर्शन के साथ समारोह सम्पन्न हुआ।कार्यक्रम को सफल बनाने में बज्मे याराने अदब के अध्यक्ष डॉ शकील अख्तर अंसारी,सचिव अब्दुल जलील अंसारी के अतिरिक्त सभी पदाधिकारियों एवं सदस्यों का विशेष योगदान रहा। 

Post a comment

Blogger