Ads (728x90)



-
भिवंडी तालुुका केे मौजे चिंबीपाडा स्थित आदिवासी शासकीय आश्रम स्कूल के १२ वीं के कला के पांच विद्याार्थियों को  राज्य के आदिवासी विभाग में प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले  विद्यार्थियों को ९ अगस्त को  नागपूर स्थित विश्व आदिवासी दिवस के अवसर पर आयोजित   कार्यक्रम में आदिवासी विकास मंत्री अशोक उईके के शुभहस्तों  सत्कार कर उन्हें प्रमाण पत्र व आर्थिक सहायता के रूप में बक्षीस देकर सम्मानित किया गया है। जिसमें अजय अशोक पवार ( ३० हजार ),आकाश दामोदर खाने ( २५ हजार ),राकेश बबन सूर्यवंशी ( २० हजार ) ,रुपाली मोतीराम जाधव ( १५ हजार ) ,रविता राघो पारधी ( १० हजार ) इस प्रकार बक्षीस पात्र विद्यार्थियोंं का समावेश है।१२ वीं के कला विभाग के  विद्यार्थी  मार्च २०१९ में परीक्षा दिए थे जिसमें उन्होंने प्रथम स्थान प्राप्त किया था। राज्य के आदिवासी विकास विभाग अंतर्गत लगभग १०५४ आदिवासी आश्रम स्कूलों में लाखों आदिवासी लडके ,लडकी शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं। शिक्षण का प्रतिशत बढ़ाएं व विद्यार्थियों को शिक्षा  में प्रोत्साहन मिले इसलिए शासन ने आर्थिक सहायता की बक्षीस योजना शुरु की गई है।उक्त योजना अंतर्गत प्रति वर्ष पांच लडके व पांच लडकियों को चुनकर उन्हें आर्थिक  सहायता के रूप  में बक्षीस दी जाती है। 
       ठाणे विभाग में एकात्मिक आदिवासी विकास प्रकल्प शहापूर अंतर्गत शासकीय माध्यमिक व उच्चमाध्यमिक आश्रम स्कूल मौजे चिंबीपाडा ता.भिवंडी स्थित पिछडे आदिवासी भाग में अनुसूचित जाती के विद्यार्थियों के लिए शुरु की गई है। उक्त स्कूल को पूर्व वर्ष आयएसओ दर्जा प्राप्त हुआ है जिसके इस वर्ष पांच विद्यार्थियों ने आदिवासी विभाग में प्रथम स्थान प्राप्त कर स्कूल का नाम रोशन किया है। इसलिए आदिवासी विकास प्रकल्प अंतर्गत इस स्कूल में भारी  उत्साह का वातावरण निर्माण हुआ है ।उक्त स्कूल के विद्यार्थियों की सफलता के लिए प्राचार्य अशोक अहिरे,प्रा.आर.एन.ठोंबरे,आर.जी.चौधरी,श्रीमती एच.डब्लू .धनवे ,श्रीमती एस.बी.हासे आदि शिक्षक वृंद ने अथक प्रयास किया है ।इसीी दरम्यान चिंबीपाडा आदिवासी शासकीय आश्रम स्कूल ने अल्पावधि में अपना नाम विश्व भर के हर क्षेत्र में अपना नाम पहुंचाया है। स्कूल केे शिक्षक वृंंद सहित व्यवस्थापक ने उत्तम शिक्षण पद्धति ,विद्यार्थियों मेंं शिस्त  व शिक्षा का दर्जा में अच्छा बदलाव करने के परिणामस्वरूप पांच वर्षों से इस आश्रम स्कूूल का  परीक्षा परिणाम १०० प्रतिशत आरहा है। इसी प्रकार पूूर्व वर्ष स्कूल ने आयएसओ का दर्जा प्राप्त किया है। तथा इस  वर्ष १२ वीं के परीक्षा में पांच विद्यार्थियों ने राज्य के आदिवासी विभाग में प्रथम स्थान प्राप्त किया है। इस स्कूल व महाविद्यालय में शिक्षा ग्रहण करने वाले विद्यार्थी भविष्य में इसी प्रकार की सफलता प्राप्त करके स्कूल का  नाम रोशन करेंगे इस प्रकार का  विश्वास आश्रम स्कूल व्यवस्थापन समिति के अध्यक्ष तथा पूर्व सभापती चंद्रकांत जाधव ने व्यक्त किया है।                         

Post a comment

Blogger