Ads (728x90)

संवाददाता, भिवंडी ।आषाढ़ी एकादशी के अवसर पर भारी संख्या में वारकरी विठू माउली का दर्शन करने के लिए पंढरपुर की पदयात्रा करते हैं। लेकिन छोटे बच्चे जो पदयात्रा करके पंढरपुर नहीं जा सकते उनके आनंद के लिए भिवंडी के ताड़ाली स्थित अभिनव बाल निकेतन के छात्र-छात्राओं द्वारा वारकरियों की पारंपरिक वेशभूषा में वारी उत्सव का आयोजन किया गया जिसे देखने के लिये भारी संख्या में उनके अभिभावक उपस्थित थे। वारकरियों की पारंपरिक वेशभूषा में स्कूली छात्रों का यह जुलुस सिर पर टोपी,मस्तक पर चंदन का तिलक,गले में तुलसी की माला एवं हाथ में मजीरा आदि बजाते हुए स्कूल परिसर से हनुमान मंदिर से होते हुए आगे गया और वहां के स्थानीय नगरसेवक हनुमान चौधरी के घर के पास होता हुआ पुनः स्कूल  पहुंचा। इस जुलुस की विशेषता यह है कि यह अंग्रेजी माध्यम का स्कूल है जिसमें पढ़ने वाले बच्चे भारी संख्या में दूसरे प्रांतों के हैं। स्कूल की मुख्याध्यापिका स्वाती जोशी ने बताया कि इस आयोजन को सफल बनाने में स्कूल के समस्त शिक्षकों सहित छात्रों के अभिभावकों का विशेष योगदान रहा है।

Post a comment

Blogger