Ads (728x90)

भिवंडी। एम हुसेन ।भिवंडी शहर के अनेक विद्यार्थियों के अभिभावकों की शिकायत पर आज AIMIM भिवंडी शहर जिलाध्यक्ष शादाब उस्मानी के नेतृत्व में एक शिष्टमंडल  प्रशासकीय अधिकारी-शिक्षण मंडल,भिवंडी से भेंटवार्ता कर ज्ञापन सौंपकर  भिवंडी शहर में संचालित सभी निजी स्कूलों में चल रहे गैरकानूनी कार्यों से अवगत कराया है ।                                                                     
उक्त अवसर पर  AIMIM भिवंडी शहर जिलाध्यक्ष  शादाब उस्मानी और महासचिव एडवोकेट अमोल कांबले ने प्रशासकीय अधिकारी को जानकारी देते हुए बताया कि  भिवंडी शहर में अधिकतर स्कूलों में मैनेजमेंट द्वारा छात्रों के अभिभावकों को दबाव डालते हैं कि वह स्कूल यूनिफॉर्म, नोट बुक,बैग,जूता, मोजा, स्कूल मैनेजमेंट से ही लें या फिर धमकी देते हुए कहते हैं कि आपका बजट नहीं तो सरकारी स्कूल में जाएं।                                     इसके अलावा अधिकतर   स्कूलों में प्रोजेक्टर फीस,कंप्यूटर फीस,योगा क्लास,डांस क्लास,पी.टी.क्लास,स्कूल   डेवलपमेंट फीस,टर्म फीस के नाम पर अधिक पैसे वसूल किए जाते हैं, जिनकी रसीद  तक नहीं दी जाती।          वहीं उक्त शिष्टमंडल में शामिल अनेक अभिभावकों ने प्रशासकीय अधिकारी को बताया कि राईट-टू-एज्युकेशन  के अंतर्गत जिन विद्यार्थियों का एडमिशन होता है ऐसे विद्यार्थियों को भेद-भाव की भावनाओं के साथ अलग क्लास में बैठाया जा रहा है जो कि गैर इंसानी सुलूक कहा जासकता है।                                           उक्त शिष्टमंडल की पूरी शिकायत सुनने के बाद प्रशासकीय अधिकारी संदीप पाटिल  ने कहा के हम आज ही भिवंडी शहर के सभी स्कूलों को नोटिस भेज कर ये संदेश देंगे कि यह सारे काम गैर कानूनी हैं और जो भी स्कूल मैनेजमेंट इसमें लिपित पाया गया उस स्कूल का मान्यता रद्द करदिया जाएगा।                         
उक्त अवसर पर  AIMIM भिवंडी शहर जिला कार्यकारिणी के नूरुलएन खान,एडवोकेट  अलतमश अंसारी,फरीद खान,अयाज़ अंसारी के साथ साथ विद्यार्थियों के अभिभावकों में पंकज परमार, संजय चौबे ,लालचंद यादव भी उपस्थित थे।

Post a comment

Blogger