Ads (728x90)

भिवंडी के वल गावं स्थित केमिकल ,रबर ,डांबर के गोदाम में भीषण आगजनी ; लाखों रुपये का नुकसान।
संवाददाता, भिवंडी ।भिवंडी तालुुका के वल गावं स्थित प्रेरणा कॉम्प्लेक्स में एक केमिकल गोदाम में सोमवार की  मध्यरात्रि लगभग १ बजे के समय  भीषण आग लग गई है इस आग को बुझाने के लिए भिवंडी , ठाणे , कल्याण,उल्हासनगर ,मुंबई के अग्निशमन दल के वाहनों को बुलाना पड़ा  जो अभी भी आग बुझाने के लिए अथक प्रयास शुरु है। संयोग से किसी प्रकार की कोई जनहानि नहीं हुई है परंतु भारी आर्थिक नुकसान हुआ है। प्रेरणा कॉम्प्लेक्स में स्थापित एक केमिकल गोदाम में शुरू में आग लगी थी परंतु  यह आग भीषण होने के कारण केमिकल गोदाम के बगल के   डांबर,बेडशीट ,फोम गादी एवं रबर के  गोदाम में देखते देखते आग लगने के बाद आग ने रौद्ररूप धारण कर लिया। उक्त आग  किस प्रकार से लगी है इसकी अधिकृत जानकारी नहीं मिली है परंतु शॉर्ट सर्किट से आग लगने की शंका व्यक्त की जा रही है। भिवंडी में केमिकल गोदाम भारी संख्या में हैं जिसकारण आग लगने की  घटना बार बार  घटित हो रही है। परंतु उक्त आग लगने की घटना को रोकने के लिए  स्थानिक पुलिस प्रशासन के साथ ही महसूल विभाग आज भी कोई ठोस भूमिका नहीं निभा रही है जिससे भविष्य में बडे पैमाने पर जनहानि  होने की शंका व्यक्त की जा रही है।
भिवंडी के केमिकल गोदाम में लगने वाली आग के कारण नागरिकों की जान को  धोखा बढते जा रहा है,
 भिवंडी शहर सहित ग्रामीण क्षेत्रों में आने वाले सैकड़ों गोदाम में अवैध रूप से रासायनिक बड़े पैमाने पर जमा  किया जाता है।उक्त अवैध जमा  केमिकल के विरुद्ध कानूनी कार्रवाई करने के लिए आदेश राज्य के पर्यावरण मंत्री रामदास कदम ने दिए हैं परंतु भिवंडी महसूल विभाग ने इस आदेश पर पूर्ण रूप से दुर्लक्ष किया है और इस अवैध गोदाम में बार बार आग लगने की घटना आम बात हो गई है।इसलिए क्षेत्र में रहने वाले नागरिकों के जीवन को धोका निर्माण हुआ है। भिवंडी के  गोदाम पट्टे में रासायनिक जमा व अन्य साधन सामग्री के लगभग ७३२ गोदाम में वर्ष भर में आग  लगी है। उक्त आगजनी की बढती  घटना के कारण भिवंडी का  ' भोपाल ' होने का धोका निर्माण हुआ है इसलिए शासन द्वारा उक्त केमिकल गोदाम के विरुद्ध तत्काल प्रभाव से कार्रवाई करते हुए रासायनिक गोदाम  बंद कराने के लिए मांग भिवंडी के नागरिकों द्वारा किया जा रहा है। भिवंडी में काल्हेर,कशेली ,राहणाल ,वल ,गुंदवली ,दापोडा ,माणकोली ,अंजूर ,केवणी ,कोपर ,सारंग ,सुरई ,दिवे अंजूर ,वेहले ,ओवली ,सरवली,कोनगांव ,पिंपलास ,सोनाले ,भोईरगांव ,वाहूली ,सापे ,वडपे,पडघा  आदि ग्रामपंचायत सीमाांतर्गत लगभग एक लाख से अधिक गोदाम हैं  जिसमें  वल ,माणकोली ,राहणाल ,गुंदवली,काल्हेर,दापोडे ,सरवली,कोपर ,पुर्णा ,कोनगांव,भोईरगांव ,वडपे,सोनाले क्षेत्र में केमिकल के लगभग ३४३ अवैध रूप से गोदाम संचालित हैैं। गोदाम में अत्यंत ज्वलनशील व अतिधोकादायक केमिकल जमा किया जाता है।उक्त केमिकल गोदाा में बार बार आग लगने का  प्रकरण घटित हो रहा है, दो वर्ष पूर्व भिवंडी ठाणे महामार्ग पर राहनाल स्थित लगने वाली आग में लकडा की वखार में सो रहे  ६ मजदूरों की जलकर मृत्यु हो गई थी तथा गत वर्ष दापोडा स्थित लगने वाली आग में ३ मजदूरों की जलकर मृृत्यु होने की  घटना घटित हुुई है।गोदाम में बार बार आग लगने की घटना शुरु ही है कि सोमवार की मध्यरात्रि वलगांव स्थित केमिकल के गोदाम में भीषण आग लग गई। इस आगजनी की घटना में डांबर ,रबर ,बेडशीट ,फोम गादी का  गोदाम जलकर  खाक हो गए हैं जिससे पुन: एक बार अवैध रूप से संचालित केमिकल गोदाम का  प्रश्न सामने आया है। राज्य शासन ने उक्त प्राणघातक घटना को गंभीरता से लेते हुए इस क्षेत्र के अवैध रूप से केमिकल गोदाम बंद करने का आदेश २०१८ के बरसात के अधिवेशन में महसूल विभाग व पुलिस विभाग को दिया था परंतु प्रति महीने हो रहे लाखों रुपये का आर्थिक व्यवहार के कारण उक्त आदेश पर स्थानिक पुलिस व महसूल अधिकारी दुर्लक्ष कर रहे हैं जिससे गोदाम में आग लगने के प्रकरण में निरंतर वृद्धि होने से नागरिकों की जान का  धोका कायम है। .

उक्त संदर्भ में भिवंडी के तहसीलदार शशिकांत गायकवाड ने बताया कि गोदाम पट्टे के केमिकल गोदाम में बार बार आग  लग रही है जिसकारण मुंबई उच्च न्यायालय के आदेशानुसार प्रांत अधिकारी डॉ.मोहन नलदकर ने केमिकल गोदाम बंद करने के लिए ८५ गोदाम  मालिकों को नोटिस जारी किया है। उक्त नोटीस की  मुद्दत भी खत्म हो गई है, इसलिए आगामी सप्ताह में केमिकल गोदाम को सील करने की कार्रवाई की जाएगी। 

Post a comment

Blogger