Ads (728x90)

भिवंडी। एम हुसेन ।भिवंडी शहर महानगर पालिका के दो कर्मचारियों को कर्तव्यों में कसूरवार व कामचोर होने की पुुष्टि होने के बाद  मनपा आयुक्त मनोहर हिरे ने दो मनपा कर्मचारियों पर तत्काल प्रभाव से निलंबन  कार्रवाई की गई है। उक्त सभी सार्वजनिक आरोग्य विभाग में लिपिक तथा कार्यालयीन अधीक्षक दिलीप माली को निलंबित कर दिया गया है। जिसमें लिपिक दिलीप माली ने मनपा के सार्वजनिक आरोग्य विमाग में आरोग्य निरीक्षक के पद पर कार्यरत रहते हुए मनपा के' स्पॉट फाईन ' पथक ने कार्रवाई कर के जब्त किए गए प्लास्टिक व अन्य साहित्य की सही ढंग से अमल नहीं किया और जानबूझकर उद्देश्य से व विशिष्ट हित के लिए प्रलंबित रखकर प्रशासकीय सेवा में बाधा डालने का प्रयत्न किया है।इस बााब अहवाल उपायुक्त ( आरोग्य ) सुनिल भालेराव ने आयुक्त के समक्ष प्रस्तुत किया था। जिसमें दिलीप माली को  दोषी पाए जाने पर तत्काल निलंबित कर दिया गया है।तथा दूसरे मामले में  सफाई कामगार रविंद्र सकपाल की २३ भिवंडी लोकसभा सार्ववजनिक चुनाव में नियुुक्ति की गई थी,परंतु एक महीने के समय अवधि में २३ मई को चुनाव प्रक्रिया पूर्ण होोनेके बाद मनपा कर्मचारी रविंद्र सकपाल यह प्रभाग समिति क्र.५ ,वार्ड क्र ६ में अपने कर्तव्यों पर हाजिर नहीं हुआ। इस संदर्भ में अहवाल आरोग्य निरीक्षक हरीश भंडारी ने आरोग्य उपायुक्त को  रिपोर्ट प्रस्तुत किया था।जिसमें सकपाल के निरंतर  गैरहाजिर  होने की पुुष्टि होने के बाद अहवाल आयुक्त मनोहर हिरे के समक्ष प्रस्तुत किया गया था। जिसमें जांच रिपोर्ट के अनुसार  दोनों कर्मचारियों को महाराष्ट्र नागरी सेवा ( शिस्त व अपिल ) ( वर्तणूक ) नियम ३ का उल्लंघन किया है। इसलिए महाराष्ट्र महानगरपालिका अधिनियम १९४९ की कलम ५६ ( २) ( फ ) नुसार विभागीय जांच के बाद मनपा आयुक्त मनोहर हिरे ने लिपिक दिलीप माली व सफाई कामगार रविंद्र सकपाल इन दोनों कर्ममचारियों  को मनपा सेवा से तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। मनपा आयुक्त मनोहर हिरे द्वारा कडी कार्रवाई से कामचोर कर्मचारियों में हडकंप मचा हुआ है।          

Post a comment

Blogger