Ads (728x90)

संवाददाता, भिवंडी ।महाराष्ट्र राज्य हज कमेटी के चेयरमैन जमाल अनवर सिद्दीकी ने ऐतिहासिक कदम उठाते हुए हज यात्रा की तरह ही हज कमेटी द्वारा उमरा भी कराने के साथ-साथ हाजियों की सुविधाओं के मद्देनजर प्रदेश के हर जिला मुख्यालय पर हज कमेटी का कार्यालय खोलने की अपनी प्रतिबद्धता दुहराते हुए कहा कि इससे हज यात्रा करने वाले मुस्लिम समुदाय के इच्छुक हाजियों को अनेक प्रकार की दुश्वारियों से राहत मिलेगी और उन्हें मुंबई की अनावश्यक भागदौड़ और खर्चे से भी बचाया जा सके। राज्य हज कमेटी के इस क्रांतिकारी निर्णय का मुस्लिम समुदाय में चौतरफा स्वागत किया जा रहा है। जमाल सिद्दीकी ने राज्य हज कमेटी को चुस्त-दुरूस्त, पारदर्शी और कार्यक्षम बनाने का संकल्प दुहराते हुए बताया कि उमरा कराने के नाम पर निजी ट्रवेल्स एजेंसियां मुसलमानों को दोनों हाथ लूट रही थीं। उस पर अंकुश लगाना जरूरी हो गया था। इसके लिए तमाम एजेंसियों की आडिट कराने के अलावा गड़बड़ी पाए जाने पर उन्हें काली सूची में डाल दिया जाएगा। उन्होंने पूर्ववर्ती सरकारों को आडे हाथ लेते हुए कहा कि इससे पहले की सरकारों द्वारा हज कमेटी के नाम पर मुसलमानों को केवल मूर्ख बनाया गया है। क्योंकि राज्य हज कमेटी का अपना कार्यालय तक नहीं है। यह साबू सिद्दीक मुसाफिरखाना में किराया पर चलता है। जिसमें आम हाजियों के लिए कोई बुनियादी सुविधा तो क्या ढंग से बैठने के लिए स्थान तक नहीं है। यहां तक कि संचार क्रांति के इस दौर में भी हज कमेटी के पास अपना वेब साइट, फेसबुक एकाउंट, ट्विटर हैंडल अथवा टोल फ्री हेल्प लाइन तक नहीं है। जिससे हाजियों से सुविधा जनक जानकारी, संवाद या उनकी अड़चनों का निवारण हो सके। इसलिए हम हज संबंधी आवेदन पत्र के लिए प्रदेश के हर जिला पर कार्यालय और हर तहसील पर हाजी दोस्त बनाएंगे जिससे हाजियों को किसी प्रकार की परेशानी न उठानी पडे।

Post a comment

Blogger