Ads (728x90)

भिवंडी में पावरलूम कारखाना, पेपर रोल व पुठ्ठा पॅकिंग गोदाम में भीषण आग ; आगजनी की दो घटना में कोई जनहानि नहीं लाखों रुपये का माल जलकर स्वाहा।
भिवंडी। एम हुसेन ।भिवंडी शहर से  सटे गोदामनगरी के रूप में प्रसिद्ध वल ग्रामपंचायत सीमांतर्गत पारसनाथ कॉम्प्लेेक्स के बी - ७  बिल्डिंग में तल महले व दूसरे महले पर पेपर रोल ,पुठ्ठा व प्लास्टिक जमा रखे  गोदाम में मंगलवार की सुबह भीषण आग लगने के कारण लाखो रुपये का माल जलकर खाक होने की घटना घटित हुुई है।उक्त आगजनी की सूूचना भिवंडी अग्निशमन दल को मिलते ही प्रभारी उपअग्निशमन दल अधिकारी अमोल किणी ने तुरंत जवानों को साथ लेकर अग्निशमन वाहन सहित घटनास्थल पर पहुंचे और अथक प्रयास कर आगजनी को नियंत्रित करने के लिए हरसंभव  प्रयत्न किया। परंतु आग का रौद्ररूप देखकर ठाणे ,कल्याण महानगरपालिका के अग्निशमन दल भी तत्काल प्रभाव से घटनास्थल पर पहुंचे।उक्त अग्निशमन दल घटनास्थल पर पहुंचते ही अथक प्रयास करने के बाद दोपहर तक आग को नियंत्रित करने में सफल हुए। गोदाम मालिक प्रवीण शहा व किराएदार शंकर चव्हाण इन दोनों ने यहां इस गोदाम में पेपर रोल ,पुठ्ठा व प्लास्टिक माल जमा कर रखा था। उक्त प्रकार से जमा कागज  पुठ्ठा जमा रखा गया था जिसमें अचानक आग लग गई। आग लगने से बडी दुर्घटना घटित हुई है।परंतु इस आगजनी की घटना के बाद घटनाास्थल से तल महला एवं दूसरे महले पर आग लगने से आग बाबत शंका व्यक्त किया जारहा है और उक्त प्रकार की आग इंंश्योरेंस मिलने  के लिए लगाई गई है ? ऐसी चर्चा जारी है।इसलिए भिवंडी में बार बार लग रही आग की उच्चस्तरीय जांच की जाए इस प्रकार की  मांग जोर पकडते जा रही है। उक्त आगजनी की घटना का मामला  नारपोली पुलिस स्टेशन ने दर्ज कर लिया है। इसी दरम्यान शहर के कल्यााण रोड परड
 आसबीबी स्थित पावरलूम कारखाने के पहले महले पर वार्पिंग व ट्विस्टींग मशीन थी जहां देर रात में जोरदार आवाज के साथ विस्फोट होकर भीषण आग लगने की घटना घटित हुुई है।इस कारखाने के पहले महले पर वार्पिंग एवं ट्विस्टींग मशीन होने के कारण उसी जगह कारखाने के मजदूर रहते थे।उनके भोजन बनाने के लिए लगने वाला गैस सिलिंडर उसी जगह रखा गया था। आग लगते ही आग  कुछ ही क्षणों में चारों ओर फैल गई। एक जोरदार विस्फोट होकर वहां के पत्रे उड गए , व इस  आवाज के भय से आस पास के कारखाने के अडोस पडोस की बड़ी नागरी बस्ती थी यहा के नागरीक भयभीत होकर अपने की सुरक्षा के लिए घर से बाहर निकले। उक्त घटना की जानकारी मिलने के बाद  अग्निशमन दल के दो वाहन घटनास्थल पर पहुंचे  परंतू  सक्रा रास्ता होने के कारण  घटनास्थल तक अग्निशमन दल के वाहन नही पहुंच सके, परंतु अग्निशमन दल विभाग के कर्मचारियों के  दो घंटो तक अथक प्रयास करने के बाद आग को नियंत्रित करने में अग्निशमन दल को सफलता मिली।उक्त  कारखाना मालिक धनाजी ठक्कर का है जिसमें तल महले पर पावरलूम मशीन थी जिसे बचा लिया गया है तदा पहले महले पर  पावरलूम सामग्री ,तैयार कपडा( ताखा) ,कोन  जमा  लाखो रुपये का माल इस  आग में जलकर  खाक हो गया है। उक्त आगजनी की घटना  शहर पुलिस ने दर्ज कर लिया है। 

Post a comment

Blogger