Ads (728x90)

भिवंडी ।एम हुसेन। भिवंडी के कामतघर स्थित शिवराम नगर के राधाकृष्ण इंग्लिश हाईस्कूल में स्वामी गंभीरानंद नवनिर्माण ट्रस्ट के महर्षि वेदव्यास गुरुकुल द्वारा 9 मई से 19 मई तक 9 दिवसीय निःशुल्क सुसंस्कार शिविर का आयोजन किया गया था ।जिसमें पांचवीं से दसवीं तक के 65 विद्यार्थियों को प्रवेश देकर प.पू. स्वामी श्री गंभीरानंद सरस्वती जी महाराज के मार्गदर्शन उनका शारीरिक,मानसिक,आध्यात्मिक एवं सरस्वती पूजन करके सुसंस्कार किया गय। जिसमें राधाकृष्ण इंग्लिश स्कूल,पीईएम इंग्लिश स्कूल,काकतिया इंग्लिश स्कूल एवं यूपी के एसएचओ मॉडर्न स्कूल सहित अन्य स्कूलों के छात्र-छात्राएं शामिल थी।
सुसंस्कार शिविर में शामिल छात्र-छात्राओं को आशीर्वचन देने के 

लिये प.पू.स्वामी श्री गंभीरानंद सरस्वती जी महाराज एवं ब्रह्मचारी श्री प्रेमस्वरूप चैतन्य जी महाराज सहित मुख्य अतिथि के तौर पर ब्रह्मांड आयुर्वेद के संस्थापक डॉ. अक्षय भोईर, डॉ. नीरज गुप्ता,समाजसेवी मनोज अग्रवाल, गुड्डू मौर्या, नीलेश वक्शी सहित अन्य गणमान्य उपस्थित थे।   
    ब्रह्मचारी स्वामी श्री प्रेमस्वरूप चैतन्य जी महाराज ने बताया कि इस शिविर में विद्यार्थियों में शारीरिक,मानसिक,आध्यात्मिक एवं सरस्वती पूजन सुसंस्कार जागृत किया गया। जिसके तहत ब्रह्ममुहूर्त संस्कार,सदाचार संस्कार,भोजनकालीन संस्कार,शयनकालीन संस्कार एवं विद्या संस्कार दिया गया। इसी तरह एकाग्रता एवं स्मृतिशक्ति वर्धक संस्कार,स्वास्थ्य रक्षा हेतु योगासन एवं प्रणायाम का अभ्यास तथा संयमित जीवन की शिक्षा, भारतीय संगीत एवं नृत्य का सामान्य ज्ञान,सामाजिक जागृति हेतु सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन एवं श्रीमद भगवद गीता का स्पष्ट उच्चारण और सामान्य ज्ञान शिविरार्थियों में उत्साह,साहस,धैर्यवर्धन के लिए प्रतियोगिता,पुरस्कार एवं प्रमाण पत्र आदि दिया गया ।जिसमें प्रतिदिन तीन बजे से पौने चार बजे तक संस्कृत सामान्य ज्ञान, पौने चार बजे से सवा चार बजे तक संस्कृत संभाषण,सवा चार बजे से पांच बजे तक श्रीमद भगवद गीता का उच्चारण एवं ज्ञान, पांच बजे से साढ़े पांच बजे तक एकाग्रता एवं स्मरण शक्तिवर्धक अभ्यास,साढ़े पांच बजे से छह बजे तक विद्यार्थी जीवन विकास कैसे हो एवं छह बजे से सात बजे तक योगासन, प्राणायाम,भारतीय संगीत एवं नृत्य के बारे में जानकारी दी गई। प्रो. कुलदीपसिंह राठौर द्वारा विद्यार्थी जीवन विकास कैसे हो, राजेश झा द्वारा श्रीमद भगवद गीता का उच्चारण एवं ज्ञान, रवि झा द्वारा संस्कृत भाषा का सामान्य ज्ञान,बबलू भगत द्वारा सदाचार,रोशन झा द्वारा संस्कृत बाल शिक्षा एवं संस्कृत संभाषण,योगासन,प्राणायाम और दीपमाला विश्वकर्मा द्वारा भारतीय संगीत एवं नृत्य के बारे में बताया गया । 

Post a comment

Blogger