Ads (728x90)



इरादे रोज बनते है लेकिन टूट जाते हैं। अजमेर वही जाते है जिन्हें मेरे ख्वाजा बुलाते है।

अजमेर शरीफ दरगाह , दरगाह शरीफ,ख्वाजा गरीब नवाज दरगाह अजमेर, अजमेर दरगाह, अजमेर शरीफ  के नाम से भी जाना जाता है। यह राजस्थान का  सबसे लोकप्रिय और महत्वपूर्ण मुस्लिम तीर्थ स्थान है। अजमेर शरीफ भक्तों की मनोकामनाओं को पूरा करने के लिए प्रसिद्ध है। सभी समुदायों के लोग यहां आते हैं और ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती के दरगाह में अकीदत के फूल चढ़ाकर दुवा करते  हैं। विभिन्न धर्म के विभिन्न अनुयायी दरगाह पर फूल, मखमली कपड़ा, इत्र  और चंदन चढ़ाते हैं।

आज अखिल भारतीय कांग्रेस सेवादल के राष्ट्रीय सचिव व मुंबई के प्रभारी अशोक राज आहूजा ने ख्वाजा गरीब नवाज की दरगाह में चादर और फूल चढ़ाकर समस्त देशवासियों के खुशहाली के लिए दुवाएं की

विदेशी ताकतों द्वारा साजिश कर जम्मूकश्मीर के पुलवामा में देश के वीर जवानों को शहिद किये जाने पर पूरे देश नागरिक क्रोधित होकर जगह जगह सड़क पर उतर कर  शहीदों को श्रद्धांजलि दे रहे है। वही अखिल भारतीय कांग्रेस सेवादल  के सचिव व मुंबई प्रभारी अशोक राज आहूजा ने अजमेर में सूफी संत ख्वाजा गरीब नवाज के दरगाह  पर जाकर मजार पर चादर चढ़ाकर  सभी  भारतवासियों के लिए खुशहाली और तरक्की की दुवाएं  मांगी। और कहा कि देश मे हम सभी लोग आपस मे मिलजुल रहे और देश की जातीयवादी शक्तिओ  और विदेशी ताकतों की  नापाक इरादों  को असफल करे, उक्त अवसर पर ख्वाजा गरीब नवाज दरगाह के गद्दीनशीन सैय्यद फैजुल हसन चिश्ती उपस्थित थे।

अजमेर से मोहम्मद मुकीम शेख की रिपोर्ट

Post a comment

Blogger