Ads (728x90)

-
भिवंडी के स्वामी श्री गंभीरानंद नव निर्माण ट्रस्ट की मैत्रेयी महिला परिषद द्वारा ताड़ाली स्थित महर्षि वेदव्यास आश्रम में रविवार को महिला सत्प्रेरणा दिवस का आयोजन किया गया। जिसमें महिलाओं को प्रोत्साहित करने के लिए समाजसेवा से जुड़ी पद्मश्री प्राप्त महिलाओं के जीवन दर्शन के बारे में जानकारी दी गई इस अवसर पर लगभग पांच सौ महिलाएं उपस्थिति थीं।
 ज्ञात हो कि महिला सत्प्रेरणा दिवस का शुभारंभ स्वामी श्री प्रेमस्वरूप चैतन्य जी के मार्गदर्शन में डॉ.प्रभाकर विश्वकर्मा,दीपमाला विश्वकर्मा एवं प्रेमजी जायसवाल एवं साथियों द्वारा भजन प्रस्तुत करके किया गया। उक्त अवसर पर आश्रम के साधक प्रोफेसर कुलदीपसिंह राठौर द्वारा भिक्षा मांगकर हजारों बच्चों का पालन पोषण करने वाली माई सिंधुताई सकपाल,कोलकाता की पद्मश्री सुहासिनी मिस्त्री,हैदराबाद के तेलंगाना की सुनीता कृष्णन,कर्नाटक की 98 वर्षीय सबसे उम्रदराज योग शिक्षक वी.नानाम्मल एवं केरल की पद्मश्री लक्ष्मी कुट्टी का जीवन दर्शन वीडियो के माध्यम से दिखाकर कार्यक्रम में शामिल महिलाओं को समाजसेवा सहित अन्य क्षेत्रों में बढ़ने के लिए प्रोत्साहित किया गया। वीडियो के माध्यम से महिलाओं को बताया गया कि सिंधुताई सकपाल भीख मांगकर हजारों बच्चों का पालन पोषण कर रही हैं, जिसमें कई बच्चे डॉक्टर,इंजीनियर एवं प्रोफेसर आदि बन चुके हैं। इसी प्रकार पद्मश्री लक्ष्मी कुट्टी आदिवासी क्षेत्रों में हर्बल की दवाओं का उपयोग करके सांप के काटे हुए सैकड़ों लोगों की जान बचाई है।
    कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ की ठाणे जिला अध्यक्ष कल्पना शर्मा एवं प्रमुख वक्ता के तौर पर स्वाध्यायी निलिनी ठक्कर ( भानुबेन) ने अपना विचार व्यक्त करके महिलाओं को प्रोत्साहित किया। महिला सत्प्रेरणा दिवस की अध्यक्षता कर रहे प.पू.स्वामी श्री गंभीरानंद सरस्वती जी महाराज ने महिलाओं को संगठित होकर काम करने के लिए आवाहन किया। उन्होंने महिलाओं के बारे में विभिन्न जानकारियों देकर प्रोत्साहित करते हुए समाज में जाकर गीता का प्रचार प्रसार करने का अनुरोध किया। उक्त अवसर पर प.पू.स्वामी श्री गंभीरानंद सरस्वती जी महाराज द्वारा मैत्रेयी परिषद की महिलाओं को स्माइल कार्ड दिया गया, जिसमें कल्याण रोड टेमघर नाका स्थित डॉ.अल्पेश चौधरी के इस्माइल मर्चेंट्स डेंटल क्लीनिक में तीन महीने तक उनके दांतों का निःशुल्क जांच,सफाई एवं एक्सरे किया जाएगा। उक्त अवसर पर कार्यक्रम में शामिल महिलाओं के लिए विशेष रूप से महाप्रसाद का आयोजन किया गया था। महिला सत्प्रेरणा दिवस को सफल बनाने में ब्रह्मचारी सुबोधजी,प्रमोदजी,ब्रह्मचारिणी श्रद्धा,भारती,चितरुपा,सतरूपा एवं प्रोफेसर कुलदीपसिंह राठौर,प्रोफेसर रवि शंकर बिटला,विनोद मिश्रा,श्यामजी गुप्ता,त्रिलोकीनाथ चौरसिया आदि ने विशेष सहयोग किया। 

Post a comment

Blogger