Ads (728x90)

संवाददाता, भिवंडी । शहर के अशोक नगर ग्राउंड में हो रही श्रीमद् भागवत कथा में सतगुरु और परमात्मा के महत्व का वर्णन करते हुए परम पूज्य परमहंस स्वामी श्री श्री 1008 महामंडलेश्वर श्री आत्मानंद सरस्वती महाराज (काशी) ने बताया कि पृथ्वी पर सतगुरु ही ईश्वर का असली स्वरूप है।महाराज ने कहा कि भागवत बताती है कि जात पात से ऊपर उठकर मानव धर्म है। मानव जीवन के लिए मर्यादित और संयमित जीवन आवश्यक है। सतगुरु से तार जोड़ने के लिए गुरु मंत्र या दीक्षा लेना जरूरी है ।सतगुरु के नाम का जाप करो, नाम ही साक्षात ब्रह्म भगवान का स्वरूप है। मनुष्य को जीवन यापन के लिए सरल जीवन सच्चा जीवन सुखी जीवन का महामंत्र धारण करना चाहिए। कथा सुनने के लिए  भारी संख्या में भक्त जमा हो रहे हैं।
 गौरतलब है कि भिवंडी में आत्मप्रकाश जनकल्याण सत्संग समिति भिवंडी द्वारा आयोजित 17 वें  वर्ष की कथा में परमात्मा के मर्म को समझाते हुए स्वामी श्री आत्मानंद सरस्वती जी महाराज ने बताया कि भक्त जहां प्रेम से पुकारते हैं, भगवान वहां स्वयं प्रकट हो जाते हैं। पहले भगवान से प्रेम करो, यह प्रेम सत्संग में आने से और प्रगाढ़ होता है। सत्य की रक्षा करो, सत्य का समर्थन करो। भगवान का अवतार धर्म, सत्य, न्याय की रक्षा के लिए हुआ है ।परमात्मा हम सब मानव के सबसे नजदीक है। परमात्मा सर्वत्र है। भौतिक सुखों के बीच से वासना जीव के ऊपर आक्रमण करती है, वासना का वास जीवन के आधुनिक संसाधनों में तथा सौंदर्य प्रसाधनो में सर्वाधिक है। शौक करो तो भी भगवान से जोड़कर करो। भगवान जिसकी रक्षा करें, उसका कोई बाल भी बांका नहीं कर सकताय है । भागवत बताती है की जात पात से ऊपर उठकर मानव धर्म है। सतगुरु के नाम का जाप करो नाम ही पृथ्वी पर भगवान का असली स्वरूप है। किसी भी तरह भगवान का नाम लो, नाम जाप से भगवत की प्राप्ति होती है। अन्यथा पुनर्जन्म होना निश्चित है। ब्रह्म निरंजन निराकार है, वही परमात्मा का सगुण साकार है ।परमात्मा के नाम अनेक हैं , लेकिन रूप अनेक हैं ।लेकिन परमात्मा एक ही है हम सब परमात्मा के अंश हैं। सारी रचना परमात्मा की है जल वायु अग्नि पृथ्वी आकाश सभी जीव के लिए समान है जो परमात्मा की अद्भुत देन है।
      सोमवार की कथा श्रवण के लिए भाजपा सांसद कपिल पाटिल,  भाजपा भिवंडी जिलाध्यक्ष संतोष शेट्टी, मनपा सभागृह नेता प्रशांत लाड, भाजपा नगरसेवक सुमित पाटिल, राम माली ,मोहन अंधेरे, राकेश ओस्तवाल, बाबा जी, पत्रकार पीडी यादव, अनिल सिंह, वेद प्रकाश सिंह, नंदलाल गुप्ता, ओम प्रकाश चौबे, जय राम गुप्ता, कृष्ण चंद्र जायसवाल, दीपक पाटिल, माणिकचंद तिवारी, राम प्रकाश चौधरी, बनारसी लाल केसरवानी, नरसी भाई पटेल आदि मान्यवर उपस्थित थे। आत्मप्रकाश जनकल्याण सत्संग समिति , भिवंडी के अध्यक्ष संजय पाटिल ने बताया कि रविवार 13 जनवरी से यह कथा आरंभ हुई है जो 23 जनवरी 2019 तक जारी रहेगी । 23 जनवरी  दोपहर में 12 बजे से 3 बजे तक विशेष महाभंडारा का आयोजन किया गया है। जिसमें सभी भक्त पधार कर महाप्रसाद ग्रहण कर सकते हैं इस प्रकार अपील संजय पाटिल ने की है। 

Post a comment

Blogger