Ads (728x90)


प्रतापगढ़ में सम्पत्ति विवाद को लेकर सौतेली मां ने बेटे की हत्या करवा दी। इस खबर से पूरे गांव में सनसनी फैल गई। बदमाशों ने सरेराह युवक पर ताबड़तोड़ गोलियां चलाई जिसके युवक की मौके पर मौत हो गई और बदमाश फरार हो गए। सूचना मिलते ही कई थानों से पुलिस फोर्स मौके पर पहुंच गये और शव को कब्जे में लेते हुए पोस्टमॉर्टम को भेज दिया।

युवक के चाचा के बेटे धीरज का आरोप है कि अशोक की हत्या उसकी सौतेली मां और मामा ने मिलकर कराया है। यह भी आरोप लगाया कि 5 -6 माह पूर्व इसी तरह अशोक की पत्नी की भी संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हुई थी। पुलिस मामले की जांच कर रही है।यह घटना संग्रामगढ़ थाना क्षेत्र के शेरगढ़ प्रतापपुर की है।

प्रतापगढ़ के बाबागंज मानिकपुर थाना क्षेत्र के धरौली यादव पट्टी निवासी अशोक कुमार सरोज (32) पुत्र अमृतलाल सरोज शुक्रवार की सुबह सराय निर्भय अपने सौतेली मां के भाई ग्राम प्रधान सराय निर्भय के कहने पर कहीं दवा देने गया था।
दवा देकर लौटते समय जैसे ही वह रामगढ़ थाने के पास पहुंचा वहां खड़े बदमाशों ने अशोक पर ताबड़तोड़ गोलिया चलाई।
 जिससे अशोक की मौके पर ही मौत हो गई और बदमाश वहां से फरार हो गए।
सूचना मिलते ही संग्रामगढ़ पुलिस अपनी टीम के साथ घटनास्थल पर पहुंच गई औऱ शव को सग्रामगढ थाने परिसर में रखवा दिया।
 सूचना मिलने पर परिजन व ग्रामीणों ने थाने पहुंचकर हत्या का आरोप मृतक के सौतेली मां कलावती व उसके भाई जियालाल ग्राम प्रधान सराय निर्भय के ऊपर लगाया है।
बता दें कि मृतक अशोक के पिता अमृतलाल सरोज एडीओ पंचायत से दो वर्ष पूर्व रिटायर हुए थे। तीन माह पूर्व उनकी पहली पत्नी की मृत्यु हो गई।
उनकी पहली पत्नी से अशोक कुमार इकलौती संतान था। पत्नी के मर जाने के बाद उन्होंने दूसरी शादी कलावती से की थी कलावती के दो बच्चे हैं एडीओ पंचायत की करोड़ों की संपत्ति लखनऊ में है संपत्ति को अपनाने के लिए अशोक की पत्नी की भी हत्या हो चुकी है।
यह आरोप भी चाचा एवं चाची अशोक की सौतेली मां कलावती पर लगा रहे हैं। परिजनों का आरोप है कि इकलौती संतान को रास्ते से हटाने के लिए कलावती व उसके भाई ने मिलकर अशोक की हत्या की है।

प्रतापगढ़ से प्रमोद श्रीवास्तव की रिपोर्ट

Post a comment

Blogger