Ads (728x90)

 नारपोली पोलिस स्टेशन क्षेत्र अंतर्गत  अंजुरफाटा परिसर में मामूली कहासुनी को लेकर दो मित्रों  ने मिलकर मुकेश चौबे नामक युवक पर प्राणघातक हमला कर दिया जिसमें मूकेश चौबे गंभीर रूप से जख्मी हो गया और इसे कई टाके  आए हैं। परंतु इस संदर्भ में पुलिस द्वारा हमलावरों के विरुद्ध दंडात्मक कार्रवाई ना होने के कारण मुकेश चौबे ने ठाणे पुलिस आयुक्त से न्याय की गुहार लगाई है।
मुकेश चौबे द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार  21 नवंबर को वह अंजुरफाटा स्थित जय मल्हार होटल में अपने दोस्तों के साथ खाना खाने के लिए बैठा था जहां पर उसके टेबल पर कुछ देर बाद विक्की तिवारी और अंकित झा कामतघर रहिवासी उसी टेबल पर बैठकर  दारु पीने लगे जिन्हे मना करने पर वह गली गलौज कर झगड़ा करने की कोशिस की वहां पर उपस्थित मुकेश के मित्रों द्वारा बीचबचाव करने पर दोनों वहां से चले गए,कुछ देर बाद जब मुकेश घर जाने के लिए अंजुरफाटा हरिधारा बिल्डिंग के पास अपनी पार्क की हुई स्कूटी लेने गया तो वहां पर पहले से ही विक्की तिवारी और अंकित झा घात लगाकर बैठे थे और मौका देखकर  सिर पे किसी हथियार से हमला कर दिया और  मारने लगे जिससे मुकेश बेहोश हो गया,मुकेश के मित्रों ने  नारपोली पुलिस स्टेशन  सामने गुरुकृपा अस्पताल में उपचार के लिए भर्ती कराया  जहां पर मुकेश को होश आने के बाद पता चला कि इसके जेब में रखे  93400 रुपये जोकि इसने अपने गर्भवती पत्नी के उपचार हेतु उधार लिए थे और  सोने की चैन गायब है। जिसके बारे में  नारपोली पोलिस स्टेशन में मामला दर्ज करवाया है लेकिन विक्की तिवारी और अंकित झा के घरवाले राजनीति पार्टी के कई बड़े राजनेताओ से पुलिस स्टेशन में  दबाव बनाया जिस कारण आपराधिक मामला दर्ज नहीं हुआ और पुलिस ने आरोपी को 18 वर्ष से कम  बताकर बालसुधार गृह भेज दिया जहां से आरोपियों ने जमानत करवा ली। दोनों हमलावर मुझे 1 दिसंबर को पुनः रास्ते में मिले और मुकेश मारने की धमकी दी जिसके बारे में मुकेश ने नारपोली पोलिस स्टेशन में जाकर  मामला दर्ज कराने के लिए फरियाद की परंतु पुलिस स्टेशन से मुकेश को डांट फटकार कर वापस भेज दिया गया है ।और हमलावर आज भी खुलेआम घूम रहे हैं जिस कारण चौबे ने ठाणे पुलिस आयुक्त ,भिवंडी डीसीपी,भिवंडी एसीपी को ज्ञापन देकर न्याय की गुहार लगाई है।पुलिस द्वारा मुकेश चौबे को न्याय मिलता है या पुलिस प्रशासन राजनेताओं के दबाव में निष्क्रियता का ही परिचय देते हुए मूकदर्शक बनी रहेगी । 

Post a comment

Blogger