Ads (728x90)


-
प्रतापगढ़ पट्टी तहसील क्षेत्र के ग्राम पंचायत सरसतपुर में तरुण चेतना प्रतापगढ़ द्वारा फसल परियोजना के अंतर्गत जल संरक्षण एवं कृषकों की आय को बढ़ाने के सम्बन्ध मे गोष्ठी का आयोजन किया गया। जिसमें आस-पास के कई गांवों के सैकड़ों किसानों ने प्रतिभाग किया। इस अवसर पर जिला उद्यायान अधिकारी रणविजय सिंह ने पानी के महत्व पर चर्चा करते हुए कहा कि प्रतापगढ़ जनपद में कुल 17 ब्लाक में से 13 ब्लाक डार्क जोन में आता है। लोग से कम पानी खर्च करने की अपील किया। कृषि की नई तकनीक का प्रयोग करें। जिससे पानी को बचाया जा सकता है। इसी क्रम में डी. डी. एम. नाबार्ड विजेन्द्र प्रताप सिंह ने  भारत सरकार के योजनाओं पर प्रकाश डालते हुए कहा कि सरकार किसानों की आय दुगना करना चाहती है। इस लिए खेती नई तकनीक के आधार पर करें जिससे किसानों की आय बढ़ सकती हैं। बैंक के माध्यम से किसानों को मिलने वाली योजनाओं पर भी चर्चा किया। जिला विधिक पैरालीगल वालिंटियर शमीम अंसारी ने    कृषि में आने वाली समस्याओं एवं लागत के बारे में किसानों से चर्चा किया। तथा कहा कि भूमि के अंदर लगातार जल स्तर में हो रही है। जल को संरक्षण करना हम सब की जिम्मेदारी है।
 फसल परियोजना के तकनीक सहायक श्याम शंकर शुक्ला ने किसानों को बताया कि कृषकों को खेती में सिंचाई एवं कृषि की नई तकनीकी का प्रयोग करें इससे जल को संरक्षित किया जा सकता है। एवं लागत को भी कम किया जा सकता है। जिससे आय में भी वृद्धि होगी । कृषि विभाग से बी० टी०एम० धर्मेंद्र सिंह ने किसानों को बताया कि कृषि विभाग द्वारा किसानों को अनुदान पर बीज , दवाएं एवं कृषि मशीनरी उपलब्ध कराई जाती है। इस कार्यक्रम का संचालन सहज शिक्षा परियोजना के जिला समन्वयक डा. अच्छेलाल बिन्द ने किया। विभाग एवं जिले में कृषि से सम्बंधित अन्य सरकारी योजनाओं के बारे में बताया।
इस अवसर हकीम अंसारी, बृजलाल, राकेश गिरि, आरती देवी, राजेश यादव, शकुन्तला देवी, बिन्दू सरोज,  उपस्थित रहे।


Post a comment

Blogger