Ads (728x90)

-
महाविद्यालय में शिक्षण ग्रहण करने वाले युवक ,विद्यार्थी वर्ग फैशन के उद्देश्य से व्यसन आहार का सेवन करके अपना जीवन बर्बाद कर रहे हैं।व्यसन के कारण उनके शरीर पर दुष्परिणाम होने की संभावना है।इसलिए विद्यार्थियों को व्यसन से दूर रहकर अपना मानसिक एवं शारीरिक आरोग्य अच्छा रखें इस प्रकार की सलाह ठाणे पुलिस आयुक्त विवेक फणसालकर ने महाविद्यालय में अमली पदार्थ विरोधी जनजागृती अभियान में दी है। अमली पदार्थों का सेवन करने से होने वाले दुष्परिणाम की जागृती कॉलेज के युवक ,युवतियों में होने के लिए ठाणे पुलिस आयुक्तालय द्वारा  विेशेष अभियान का आयोजन किया गया है। इसी क्रम में भिवंडी महाविद्यालय व श्री महादेव चौघुले महाविद्यालय,समदिया हाईस्कूल,स्वयंसिध्दी ,नवभारत इंग्लिश स्कुल आदि विविध स्कूल व महाविद्यालय में पुलिस ने अमली पदार्थों  का सेवन से होने वाले दुष्परिणाम बाबत विद्याार्थियों को  जनजागृती के करने के लिए रांगोली स्पर्धा,पोस्टर ,पेंटींग,स्लोगन, वक्तृत्व व  समूहनृत्य इस प्रकार के विविध स्पर्धां लेकर उत्कुष्ट प्रदर्शन करने वाले  विद्यार्थियों को पुुरस्कृत किया गया है । तथा ठाणे पुलिस आयुक्तालय  अंतर्गत भिवंडी के श्री महादेव चौघुले महाविद्यालय के उत्तम व्यवस्थापन (ऑर्गनाइझेशन ) व शिस्तबद्धता (डिसिप्लिन) के लिए प्रथम क्रमांक प्राप्त करने वाले दो विजेताओं को शुक्रवार को ठाणे पुलिस आयुक्त विवेक फणसालकर के शुभहस्तों हस्ते दिया गया है। उक्त सम्मानित पुरस्कार के परिणामस्वरूप चौघुले महाविद्यालय के प्रशासन व विद्यार्थी वर्ग में अपार हर्ष निर्माण हुआ है। भिवंंडी सहित कल्याण, ठाणे व पुलिस आयुक्तालयांतर्गत महाविद्यालय में अंमली पदार्थ विरोधी आभियान पुलिस विभाग  द्वारा  आयोजित किया गया है। दारू,तंबाखू सहित अन्य अमली पदार्थों का सेवन मानवी शरीर पर होने वाले दुष्परिणाम घातक हो सकती है। तथा कोई व्यक्ति कोई भी अमली पदार्थ आहारी सेवन करने के बाद उसका संपूर्ण शरीर बेजान होजाता है इसलिए बार बार उसे नशा करने की इच्छा होती है। नशा के लिए गांजा,दारू,इफेड्रिन ऐसे अमली पदार्थ मिलने के लिए वह  स्वयं घर में ही चोरी करने लगता है परिणामस्वरूप वह अपराधी होजाता है।यह सभी टालने के लिए अभिभावकों को बच्चों पर विशेष ध्यान देना आवश्यक है। इस प्रकार का उदगार व्यक्त पुलिस आयुक्त फणसालकर ने व्यक्त किया है। इसी प्रकार आरोग्य घातक होने के साथ ही आर्थिक एवं मानसिक परिणाम भी भुगतना पडता है।उस समय अभिभावकों को विद्यार्थियों से अच्छे संबंध रखते हुए इस बाबत पुलिस पथक को विद्यार्थियों की जानकारी देने के लिए प्रबोधन किया। उक्त अवसर पर शिक्षक वर्ग,विद्यार्थी सहित अभिभावक भी भारी संख्या में उपस्थित थे।

Post a Comment

Blogger