Ads (728x90)

भिवंडी। एम हुसेन ।भिवंडी के विभिन्न सामाजिक संस्थाओं एम पी जे,संवाद फाउंडेशन एवं परिवर्तन मंच आदि के सदस्यों ने भिवंडी की विभिन्न समस्याओं के निराकरण हेतु ,"भिवंडी माँगे जवाब"नाम की संस्था का गठन किया है। संस्था के तत्वावधान में  शहर की समस्याओं के समाधान हेतु आम जनता विशेषकर युआओं और छात्रों में जागरूकता लाने के लिए संस्था द्वारा अभियान चलाया जा रहा है। इसी सिलसिले में संविधान दिवस के अवसर पर रईस हाई स्कूल एंड जूनियर कालेज के संयुक्त सहयोग से यशवंतराव चौहान महाराष्ट्र मुक्त विद्यापीठ द्वारा संचालित रईस स्टडी सेंटर के छात्रों को जागरूक करने के लिए उर्दू बसेरा हॉल में एक मार्गदर्शन कार्यक्रम का आयोजन किया गया। वक्ता एवं मार्गदर्शक के रूप में डॉ इंतेखाब शेख,डॉ इमरान,ज़ाकिर मोमिन,गोविंद शर्मा,अनूप कुमार शुक्ला और विशेष अतिथि के रूप में स्टडी सेंटर के कोऑर्डिनेटर अब्दुल अज़ीज़ अंसारी,सादिक़ अंसारी,मक़सूद अंसारी,मोईन फलाही उपस्थित थे। वक्ताओं ने बताया कि २६ नवंबर संविधान दिवस के रूप में मनाया जाता है क्योंकि इसी दिन १९४९ में डॉ बाबासाहेब भीमराव अंबेडकर और उनके साथियों ने संविधान का निर्माण करके लोकसभा में पेश किया था। जिसे २६ जनवरी १९५० को लागू किया गया। भारत के हर नागरिक का कर्तव्य है कि संविधान द्वारा नागरिकों को दिए गए मूलभूत अधिकारों प्रमुख रूप से स्वतंत्रता,धर्म और समानता आदि अधिकारों को जानें और जो नहीं जानते उन्हें बताने का काम करें।वक्ताओं ने कहा कि वर्तमान समय में देश और समाज की हालत को देखते हुए युवाओं और छात्रों की ज़िम्मेदारी बढ़ जाती है कि वह आगे आएं और संविधान के मार्गदर्शन में देश,समाज और अपने शहर की समस्याओं के निराकरण हेतु सहयोग करें। प्रशासन से समस्याओं के निराकरण के लिए प्रश्न करें और उसके उत्तर की भी मांग करें। कार्यक्रम में प्रशासन से प्रश्न और शिकायत किस प्रकार से दर्ज किया जाए इस पर भी मार्गदर्शन किया गया। लिखित शिकायत के अतिरिक्त टेक्नॉलोजी के प्रयोग की सलाह दी गई । शहर की समस्याओं के लिए आन लाइन स्वच्छता ऐप और आपले सरकार पोर्टल पर भी शिकायत दर्ज कराने के संबंध में जानकारी दी गई ।        

Post a comment

Blogger