Ads (728x90)


मीरजापुर। मौसम में तेजी के साथ हो रहे परिर्वत तथा खसरा रूबेला की संभावनाओं को देखत हुए अभियान चलाकर टीकाकरण किया जा रहा है। इसके लिए जिले के सभी स्वास्थ केन्द्रों से लेकर गांव प्रखंड़ स्तर पर कैंप लगाकर लोगों को इससे बचाव के उपाय बताने के साथ टीकाकरण पर जोर दिया जा रहा है। गुरूवार को सीखड़ ब्लाक के दो उप केन्द्रों सीखड व रामगढ में चलाये जा रहे अभियान के क्रम में खसरा रूबेला का टीका लगाया गया। इस कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए इस कार्य में स्वास्थ विभाग के साथ-साथ शिक्षा विभाग के लोगांे को भी सहयोग लिया जा रहा है। इसके लिए प्रत्येक बूथ पर एक आशा, एक एएनएम,  आंगनबाड़ी व एक नोडल को लगाया गया है। सीखड़ क्षेत्र के कई विद्यालयों पर कैंप लगाकर खसरा रूबेला का टीका लगाया गया। इस दौरान टीम में षामिल लोगों को इसके बचाव के बारे में भी जानकारी प्रदान की गई। इसी क्रम में राजगढ़ विकास खंड क्षेत्र के सभी प्राथमिक एवं उच्च माध्यमिक विद्यालयों में गुरूवार को रूबेला व मीजल्स के टीके लगाए गए। इस दौरान प्रभारी चिकित्साधिकारी डा. डीके सिंह से ने बताया कि यह टीकाकरण बच्चों में होने वाली असाध्य रोगों के रोकथाम के लिए लगाया जा रहा है। केंद्र व राज्य सरकारों की देखरेख में संयुक्त रूप से स्वास्थ्य सुरक्षा की दृष्टि से यह कार्यक्रम चलाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि रूबेला और मीजल्स एक तरह से आधुनिक बीमारी का नाम है जिससे बच्चों में बुखार व खुजली जैसी होती है। जो आगे चलकर असाध्य रोग का रूप धारण कर लेती है। जिसकी वजह से बच्चों में कमजोरी व उनका मानसिक विकास बाधित होने लगता है।

Post a comment

Blogger