Ads (728x90)


भिवंडी। एम हुसेन ।भिवंडी शहर महानगरपालिका में पूर्व पंद्रह वर्षों से पानी आपूर्ति व बोअरवेल दुरुुस्ती का काम करने वाले मजदूरों को मिनिमम वेतन सहित आवश्यक सुविधा उपलब्ध कराने की मांग के लिए शनिवार को श्रमजीवी रयत कामगार संघटना कंट्रेक्ट  कामगार संघटना के संस्थापक अध्यक्ष विवेक पंडित के आदेशानुसार आयुक्त के कार्यालय के सामने ठिय्या आंदोलन किया गया ।उक्त आंदोलन को संज्ञान में लेते हुए कामगारों को मिनिमम वेतन देने के लिए लिखित आश्वासन मनपा आयुक्त मनोहर हिरे द्वारा दिए जाने के बाद पूर्व वर्षो से चल रही लडाई को सफलता मिलने से कामगारों ने आनंद व्यक्त किया है। भिवंडी महानगरपालिका के कंट्रेक्ट कामगारों की विविध मांग के लिए श्रमजीवी रयत कामगार संघटना ने समय समय पर पत्रव्यवहार करते आ रहे थे परंतु प्रशासन कामगारों की मांग को मान्य नहीं कर रहा था। जिसे संज्ञान में आते ही शनिवार को अचानक कामगारों ने आयुक्त के कार्यालय के सामने ठिय्या आंदोलन शुरू कर दिया । उस समय प्रशासन व पुलिस की नींद उड़ गई थी कामगार अपनी मांग पर अड़े रहे जिस कारण मनपा आयुक्त मनोहर हिरे ने कामगारोंं के  शिष्ट मंडल के साथ चर्चा की। उक्त अवसर पर कंंट्रेक्ट कामगारों को जनवरी २०१९ से मिनिमम वेतन लागू करते हुए वेतन कामगारों के खाते में जमा किए जाने की मांग  मान्य की गई। इसी प्रकार कामगारों के पूर्व दो महीने का बकाया वेतन दिनांक ५ दिसंबर तक भुगतान कर दिया जाएगा इस प्रकार का लिखित पत्र आयुक्त ने दिया।साथ ही मनपा मुख्यालय उपायुक्त दीपक कुरलेकर ने आयुक्त द्वारा कामगारों की मांग को मान्य किए जाने की जानकारी आंदोलन स्थान पर आकर  कामगारों को दिए  जिससे कामगारों ने आनंद व्यक्त किया है।उक्त आंदोलन को सफल बनाने के लिए श्रमजीवी रयत कामगार संघटना के भिवंडी तालुका अध्यक्ष एडवोकेट .रोहिदास पाटिल,श्रमजीवी संघटना भिवंडी तालुका ग्रामीण अध्यक्ष सुनील लोणे,भिवंडी तालुका शहर अध्यक्ष सागर देसक, तालुका सचिव मोतीराम नामकुडा,सहसचिव गणेश सापटे,तालुका युवा अध्यक्ष मुकेश भांगरे,शेतकरी घटक प्रमुक हेंदर कासट,सचिव तानाजी लहांगे, तालुका संघटक यशवंत भोईर,महिला प्रमुख कमल गुलूम, गुरुनाथ वाघे,अमोल मुकणे,अनिता वाघे,किशोर हुमणे,गणपत हिलम,हिरामण गुलवी तथा कामगारों के प्रतिनिधि कमलाकर गोरले आदि ने अथक प्रयास किया है ।

Post a comment

Blogger