Ads (728x90)

*नगर पालिका परिषद की उदारता से सफाई कर्मियों के हौसले बुलंद
*विंध्यक्षेत्र में सफाई कर्मियों की मनमानी चरम पर 


मीरजापुर। उत्तर भारत के सुप्रसिद्ध हिंदू धार्मिक मंदिरों में मां विंध्यवासिनी की पावन नगरी में इन दिनों शारदीय नवरात्रि मेला बीतते ही समूचे विंध्य क्षेत्र की गलियों में गंदगी का अंबार लग गया है। सफाई कर्मियों की लापरवाही से जगह-जगह कूड़े कचरे का ढेर एकत्र होने से नालियां कचरे से बजबजा उठी हैं। आलम यह है कि विंध्य क्षेत्र के फतेहपुरी गली, न्यू वीआईपी रोड, पुरानी वीआईपी रोड, कोतवाली रोड, पक्का घाट मार्ग समेत विंध्य क्षेत्र की पावन गलियां कूड़े करकट के अंबार से भरी पड़ी हुई है।
वहीं स्थानीय नगर पालिका अधिकारियों के तानाशाही रवैया के कारण विंध्य क्षेत्र में आने वाले लाखों यात्रियों श्रद्धालुओं के लिए दर्शनार्थ हेतु जाने वाले मंदिर की तरफ से आने जाने वाले मार्गों के तरफ कूड़े करकट के अंबार लगने से दुर्गंध युक्त महक का अनुभव करते हुए यात्रियों एवं श्रद्धालुओं के साथ स्थानीय लोगों के लिए काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। तो वहीं नगर पालिका की उदारता के कारण विभागीय सफाई कर्मियों द्वारा विंध्य क्षेत्र में सफाई न किए जाने के साथ विभागीय वाहवाही लूट प्रधानमंत्री की महत्वाकांक्षी परियोजना स्वच्छ भारत योजना अंतर्गत स्वच्छता अभियान की धज्जियां उड़ाते दिख रहे हैं। बताते चलें कि गुरुवार को महानवमी के दिन नवरात्र मेला समाप्त हो जाने के बाद भक्तों का यहां से जाने का सिलसिला प्रारंभ हो गया है वहीं नवरात्र मेला समाप्त होते ही विंध्य क्षेत्र से लगे हुए इलाकों गलियों तथा गंगा घाटों पर कूड़ा कचरे का ढेर एकत्र हो गया है नालिया कचरे से पट सड़न पैदा कर रही हैं। जैसे से उठने वाली गंदगी और बदबू से लोगों का सांस लेना भी दूभर होने लगा है।

Post a comment

Blogger