Ads (728x90)

मीरजापुर। हलिया थाना क्षेत्र के हिम्मत कोल हत्याकांड मामले में नया मोड़ आ गया है। पुलिस ने इस मामले में वन क्षेत्राधिकारी समेत तीन लोगों के विरुद्ध हत्या का मुकदमा दर्ज कराया है। बबुरा रघुनाथ सिंह के कंपार्टमेंट नंबर आठ में करनपुर शिवान के पास बुधवार की रात्रि में एक अधेड़ युवक की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। सुबह गांव के ही बुद्धू अपनी पुत्र बधु के साथ जंगल में अपने पाही पर जा रहे थे कि रास्ते के पास देखा शव पड़ा देख वह उठे थे। जिसकी सूचना ग्रामीणों को दिया ग्रामीणों के सूचना पर पंहुची पुलिस आगे की कार्यवाही में जुट गई। बताया जाता है कि बबुरा रघुनाथ सिंह के कीरका निवासी हिम्मत कोल 55 वर्ष बुधवार को साढे नौ बजे रात्रि गांव के ही श्यामलाल कोल यंहा दुर्गा पूजा देखने गए थे। तभी किसी का मोबाइल पर फोन आया और बेटे तथा भाई से यह कहकर गए कि जरूरी फोन आ रहा है। गुरुवार की सुबह गांव के युवक ने कचकढवा नाले के पास शव पडे होने की सूचना ग्रामीणो को दिया ग्रामीण मौके पर पंहुचकर शव का शिनाख्त किये और पुलिस को सूचना दिये। मौके पर पंहुचे प्रभारी निरीक्षक विश्वज्योति राय ने शव को देखा तो सर और सीने में चोट के निशान तथा मौके से एक  गोली के छर्रा मिला। फ्रैंसिक लैब की टीम व अपर पुलिस अधीक्षक अजय कुमार सिंह व सीओ लालगंज भी मौके पर पहुंचकर घटना स्थल का मुआयना किया। मौके से मृतक का मोबाइल भी गायब था।
मृतक बेटे चंद्र प्रकाश ने गुरुवार को तहरीर दिया कि मेरे पिता की हत्या वन रेंजर भाष्कर प्रसाद पांडेय तथा गांव निवासी वन वचार अखंड प्रताप सिंह व वन विभाग के शुक्ला दरोगा ने मिलकर मेरे पिता को गोली मारकर रात्रि में हत्या कर दिया है। वहीं वन क्षेत्राधिकारी भाष्कर प्रसाद पांडेय ने बताया कि मै अवकाश पर घर आया हूं। घटना के संबंध में मुझे कोई जानकारी नहीं है। प्रभारी निरीक्षक हलिया विश्वज्योति राय ने बताया कि तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

Post a comment

Blogger