Ads (728x90)

मुंबई। मुंबई के मरीन ड्राइव में 1 अक्टूबर को विश्व स्तर पहला क्लीनटेक शौचालय का उद्घाटन युवा सेना प्रमुख आदित्य ठाकरे के हाथों किया गया। यह स्वच्छतागृह आज से सामान्य जनता के लिए खुलेगा।

बता दें कि इस शौचालय का काम पूरा होने की घोषणा मुंबई महानगरपालिका, जेएसडब्ल्यू ग्रुप, सामाटेक और एनपीसीसीए ने सोमवार को की अत्याधुनिक डिजाइन का यह शौचालय 2 अक्टूबर को आम नागरिकों के लिए चालू कर दिया जाएगा। इसका लाभ मरीन ड्राइव के 3.7 किमी लंबे फुटपाथ पर आनेजाने वाले हजारों मुंबईकरों को फायदा होगा। इस शौचालय के निर्माण में 1 करोड़ रुपए खर्च किया गया। जेएसडब्ल्यू  स्टील्स की ओर से उपलब्ध कराए गए वेदरिंग यानि किसी भी मौसम का असर न होने वाले टिकाऊ स्टील शीट्स से इस शौचालय का मोनोलिथिक फॉर्म बनाया गया है। वेदरिंग स्टील अपने टिकाऊपन और मजबूती के लिए विश्व भर की  स्मारकों और वस्तुओं के निर्माण कार्य में उपयोग में लाया जाता है। यह शौचालय मरीन ड्राइव के समुद्र किनारे पर होने के कारण नमकीन हवा और बरसाती लहरों के कारण कोई भी नुकसान नहीं, इस तरह से यह बनाया गया है। शौचालय की देखभाल के लिए अत्यंत कम खर्च होगा और यह दीर्घकाल तक सुरक्षित रहेगा। ऐसे वस्तुओं का उपयोग शौचालय बनाने के लिए किया गया है।

इस शौचालय की सुविधा नॉर्वे के विश्व स्तर के  वैक्यूम तकनीक पर आधारित है जिसे सामाटेक ने उपलब्ध कराया है।  सर्वसाधारण शौचालय के प्रत्येक फ्लैश के पीछे 7 ते 8 लीटर पानी का उपयोग होता है। पर इस शौचालय के प्रत्येक फ्लैश के पीछे 90 प्रतिशत पानी की  बचत होगी। एक फ्लैश के लिए सिर्फ  0.8 लीटर पानी खर्च होता है। मुंबईन जैसे शहर में जहां पानी मिलना कठीन है वहां इस तकनीक के कारण बड़े पैमाने पर पानी की बचत होगी।

Post a comment

Blogger