Ads (728x90)

मुंबई।। बेस्ट का उपक्रम घाटे से उबरने का नाम ही नही ले रहा है। पिछले साल मनपा आयुक्त अजोय मेहता खर्च कटौती के सैकड़ो सुझावों के बावजूद बेस्ट प्रशासनं ने सोमवार को 2019 20 का अनुमानित 720 करोड़ रुपए घाटे का बजट पेस किया।बेस्ट महायवस्थापक सुरेंद्र कुमार बागड़े बेस्ट समिति अध्यक्ष आशीष चेम्बूरकर के सम्मुख बजट पेस करते हुए कहा कि बेस्ट को घाटे से उबारने के लिए बेस्ट को अत्याधुनिक की ओर ले जाया जाएगा और बेस्ट बसों की  संख्या बढ़ाने पर जोर दिया।उन्होंने फिलाहल बेस्ट किरायों में किसी तरह की बढ़ोत्तरी करने से इंकार किया।

बेस्ट महाव्यवस्थापक सुरेंद्र बागड़े ने बेस्ट समिति के सम्मुख वर्ष 2019 -20 का अनुमानित बजट पेस करते हुए कहा कि बेस्ट का घाटा जरूर बढ़ रहा है लेकिन उन्होंने यात्रियों को बस के अगामन एवं प्रस्थान की जानकारी देना अधिक जरूरी बताते हुए कहा कि इस बार लोगो को सुख सुविधा मुहैया कराने के लिए 452,34 करोड़ रुपए का प्रावधान किए जाने की जानकारी दी।बेस्ट के बिजली विभाग में कमाई बढ़ाने के लिए बेस्ट प्रशासन द्वारा बड़े पैमाने पर अत्याधुनिकीकरण किए जाने की उन्होंने जानकारी दी।बिजली विभाग द्वारा अन्य कंपनियों के अपेक्षा कम दर रखे जाने से बिजली के ग्राहकों की संख्या में बढ़ोत्तरी होने की सम्भवना व्यक्त करते हुए ग्रहको को अच्छी सुविधा देने पर अधिक धयान दिए जाने की जानकारी दी।बेस्ट प्रशासनं ने बिजली दर में न्यूनतम 2 पैसे से लेकर 10 रुपया तक दर कम किया जिसकी एमीआरसी ने पहले ही मंजूरी दे दी है।

बेस्ट के बिजली खंभों ओर लगेंगे 21900 एलईडी बल्ब बिजली खर्च में कटौती करते हुए सड़क किनारे रोशनी उपलब्ध कराने के लिए 21900 एलइडी बल्ब लगाकर बिजली बचत की जाएगी।

बेस्ट का कर्ज का बढ़ता जा रहा बोझा। बेस्ट उपक्रम दिन प्रतिदिन कर्ज में डूबता ही जा रहा है।बेस्ट 2017 18 में 410 करोड़ घाटे में डूबी थी जो 2018 19 में बढ़कर 689 करोड़ पहुच गया।अब 2019 20 में बढ़कर 720,54 करोड़ पहुच गया है।मनपा आयुक्त अजोय मेहता पिछले साल बेस्ट को घाटे से उबरने के लिए वेतन आदि से लेकर तरह तरह के खर्च कटौती का सुझाव दिया था।जिसे बेस्ट द्वारा 90 प्रतिशत मान्य किए जाने के बावजूद घाटे में कमी होती नही नजर आ रही है।

बेस्ट का नही बढ़ेगा किराया यात्रियों को अधिक सुविधा देने के लिए बढ़ेगी बस की संख्या में होगी बढ़ोत्तरी बेस्ट महाव्यवस्थापक ने वर्ष 2019 20 का बजट पेस करते हुए बेस्ट उपक्रम में सबसे अधिक घाटा कराने वाली बेस्ट बस सेवा को अधिक सुविधा देने के लिए बेस्ट बसों की संख्या बढ़ाने का निर्णय लिया है।बेस्ट बेड़े में अभी कुल 3337 बस यात्रियों को सुविधा दे रही है।बेस्ट ने यात्रियों को अधिक सुविधा देने के लिए बेस्ट बेड़े में 713 नई बस खरीदकर यात्रियों को और अच्छी सुविधा देने का निर्णय लिया है।

मार्च तक यात्रियों को मिलेगी बेस्ट के आवागमन की जानकारी बस स्टॉप और मोबाइल ऐप से दी जाएगी जानकारी बेस्ट प्रशासनं ने यात्रियों को बेस्ट बसों के आगमन और प्रस्थान की जानकारी देने के लिए इनटेलीजेंट ट्रांसपोर्ट मैनजमेंट सिस्टम के द्वारा बसों के अगामन एवं प्रस्थान की जानकारी बस स्टॉप पर देने का निर्णय लियाहै। इसी तरह बेस्ट ने मोबाइल एप पर भी यह सुविधा मुहैया कराएगी।बस मार्ग और बस की जानकारी देने के लिए पैसेंजर इंफॉर्मेशन सिस्टम अपनाने की जानकारी बेस्ट महाव्यवस्थापक ने दी।

पिछले साल का भी लटका है बजट बेस्ट द्वारा पिछले साल 2018 19 का पेस किया गया 880 करोड़ अनुमानित घाटे का बजट जो अब 689 करोड़ राह गया है मनपा प्रश्ससन ने मंजूर नही किया है। अब इस साल पेस किया गया बजट जो कि 720 करोड़ घाटे में है अब कैसे मंजूर होगा इसको लेकर शंका उतपन्न की जा रही है।मनपा नियमानुसार बजट एक लाख बचत का होना अनिवार्य है इसके बावजूद घाटे का बजट कैसे मंजूर होगा

Post a comment

Blogger