Ads (728x90)

मुंबई। समुद्र के किनारें चौपाटियों पर हर समय लोगों के डूबने की घटनाएं घटती जा रही है। बीएमसी प्रशासन ने मुंबई की चौपाटियों की सुरक्षा अब गोवा मॉडल पर करने का निर्णय लिया है।चौपाटियों कि सुरक्षा की जिम्मेदारी 93 जवानों पर सौंपी जाएगी। अभी तक 36 लाइफ गार्ड पर सुरक्षा की जिम्मेदारी थी। बता दें कि बीएमसी प्रशासन ने समुद्री किनारों चौपाटियों पर होने वाली दुर्घटनाओं पर अंकुश लगाने के लिए अब कठोर कदम उठाया है। चौपाटियों पर होने वाली दुर्घटनाओं पर निगरानी रखने के लिए बीएमसी ने 93 लाइफ गार्ड की नियुक्ति का निर्णय लिया है।लाइफ गार्ड पर तीन साल के लिए साढ़े दस करोड़ रुपया खर्च किया जाएगा।अभी तक चौपाटियों पर सुरक्षा की जिम्मेदारी मात्र 36 लाइफ गार्ड की रहती थी।पर्यटकों का समुद्र में डूब जाने की बड़े पैमाने पर घटना घटती थी। बीएमसी ने इसी के चलते गोवा की तर्ज पर ट्रेंनिग लिए हुए लाइफ गार्ड को नियुक्त करने का निर्णय लिया। इन सामग्रियों से लैस होंगे लाइफ गार्ड लाइफ गार्ड के पास लाइफ जैकेट ,रस्सी ,सेफ्टी ट्यूब,रिंग आदि सुविधा उपलब्ध रहेगी। और इनके पास प्रथमोपचार सामग्री भी उपलब्ध कराई जाएगी।लाइफ गार्ड को सुबह 7 से 3 और 3 से 12 रात तक ड्यूटी रहेगी।

Post a comment

Blogger