Ads (728x90)

भिवंडी। एम हुसेन ।एमई आर सी ने उपभोक्ताओं की सभी श्रेणियों के लिए बिजली बिल टेरिफ पुनरीक्षित किया है। कृपया ध्यान दें कि हाल में ही एमएसईडीसीएल वाणिज्यिक परिपत्र क्रमांक 311 अनुसार नया टेरिफ 1 सितंबर 018 से ही पूरे महाराष्ट्र में लागू है। तदनुसार टेरिफ का अंतर इस बिजली बिल में समायोजित किया जाएगा, बिल की मुख्य विशेषताओं में से एक यह है कि पावर फेक्टर प्रतिशत और इंसेंटिव /पेनाल्टी गणना के तरीके में बदलाव है। जबकि पहले पावर फेक्टर प्रतिशत और इंसेंटिव /पेनाल्टी की गणना करते समय केवल 'लैग' पावर फेक्टर पर गौर किया जाता था अब 'लीड' और साथ ही 'लैग' पावर फेक्टर दोनों गणना के लिए लिया जाएगा। हालांकि ने सर्कुलर के अनुसार टेरिफ में ज्यादा वृद्धि / बदलाव नहीं है, इस पद्धति से पावर फेक्टर प्रतिशत और इंसेंटिव / पेनाल्टी की गणना की जाएगी। इससे पावरलूम और औद्योगिक उपभोक्ताओं के मासिक बिल पर असर पड़ेगा, टोरेंट पावर कंपनी द्वारा यह अनुशंसा की जाती है कि उपभोक्ता अपने केपीसीटर की समीक्षा करे और आवश्यक सुधार करे। वह जल्द ही बदलाव के बारे में उपभोक्ताओं को शिक्षित करने के लिए ग्राहक संवाद आयोजित कर रहे हैं। विस्तृत टेरिफ उनकी वेबसाइट connect.torrentpower.com से डाउनलोड किया जा सकता है और उपभोक्ता संबंधित प्रश्नों के लिए टोरेंट ग्राहक केंद्र से संपर्क कर सकते हैं। उक्त प्रकार की जानकारी प्रेस विज्ञप्ति में टोरेंट पावर कंपनी प्रशासन ने दी है। 

Post a comment

Blogger