Ads (728x90)



























मुंबई: श्री कृष्ण जयंती के दिन 3 सितम्बर को लड़की भगाने वाले बयान को लेकर विवादों से घिरे मुंबई उपनगर में घाटकोपर पश्चिम विधानसभा  छेत्र से बीजेपी के विधायक राम कदम की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं. घाटकोपर के विधायक अपनी टिप्पणी को लेकर खेद जता चुके हैं. उन्होंने कहा कि मैंने भीड़ में खड़े एक व्यक्ति की पंक्ति को केवल दोहराया था. वह मेरी पंक्ति नहीं थी. क्लिप मात्र 40 सेकंड में वायरल हो गई. यद्यपि मैंने बाद में कहा था कि सभी घरों में माताएं, बहनें और बेटियां लक्ष्मी हैं और उनका सम्मान किया जाना चाहिए. उन्होंने कहा था यदि मैंने भावनाओं को ठेस पहुंचायी है तो मैं खेद जताता हूं.
वही मुश्किल में फंसे भाजपा के राम मुंबई महिला कांग्रेस की अध्यक्ष डॉ अजंता यादव, महाराष्ट्र महिला कांग्रेस अध्यक्ष चारुलता टोकस, मनीषा सूर्यवंशी, राजेश इंगले, सुरक्षा घोसालकर, नयना उपेंद्र जोशी, सहित सेकड़ो महिलाओं ने लगातार दूसरे दिन देर रात तक घाटकोपर पुलिस चौकी में धरना देकर राम कदम की गिरफ्तारी की मांग की और रात भर पुलिस चौकी में रहने का निर्णय लिया पुलिस के काफी समझाने बुझाने के बाद कि शुक्रवार की दोपहर 12 बजे हम राम कदम के बारे में निर्णय बतायेगे पुलिस चौकी से महिलाये बाहर निकली लेकिन जब तक राम कदम की गिरफ्तारी नहीं कि जाएगी तब तक हमारा आंदोलन जारी रहेगा यह मुंबई महिला कांग्रेस अध्यक्ष डॉ अजंता यादव ने कहा उक्त धरना प्रदर्शन में कांग्रेस, राष्ट्रवादी कांग्रेस, शिवसेना, मनसे सहित अन्य दलों की महिलाओं ने भी धरना प्रदर्शन किया।

Post a comment

Blogger