Ads (728x90)

भिवंडी। एम हुसेन ।स्कूल जीवन से विद्यार्थियों को साहित्य की  सुविधा का निर्माण हो और वाचन संस्कृति का जतन हो इसलिए शहर के कामतघर क्षेत्र स्थित  रंगराव  विठोबा पवार विद्यालय में '' शब्दांगण कला साहित्य परिषद वसई द्वारा आयोजित '' संवाद शब्दांचा शब्दांशी ''  शब्द साहित्य कार्यक्रम बडेे उत्साह के साथ संपन्न हुआ। कार्यक्रम  अध्यक्ष के रूप में  निलपुष्प साहित्य मंडल ठाणे के अध्यक्ष वरिष्ठ साहित्यिक डॉ.नारायण तांबे  उपस्थित थे तथा मुख्य अतिथि के रूप में   शब्दांगण की संस्थापक अध्यक्षा शिल्पा पै परुलेकर,कार्याध्यक्ष संजय पाटिल, बापूजी भालेराव ,उपाध्यक्ष संदीप कांबले,सचिव अपर्णा बन्नगरे इसी प्रकार कवी राजेश साबले,कवी उदय क्षीरसागर,कवित्री निर्मला पाटिल आदि साहित्यिक उपस्थित थे। उक्त कार्यक्रम में  उपस्थित सााहित्यिक जनों ने विद्यार्थियों को भरपूर प्रतिसाद दिया। मुख्य अतिथि शिल्पा परुलेकर ने विद्यार्थियों को वाचन के महत्व को विस्तार रूप से समझाया। अपर्णा बन्नगरे ने वाचन से मनुष्य का निर्माण कैसे हो सकता है बताया। संजय पाटिल ने कहा कि कुछ लोग लोकगीत गाकर मार्गदर्शन किए तथा कवी राजेश साबले ने वाचन एवं कला का महत्त्व विद्यार्थियों को समझाया। कार्यक्रम में कवित्री निर्मला पाटिल ने एक अलग रंग भरा उन्होंने कवी उदय क्षीरसागर की माताा जी पर कविता प्रस्तुत किया तथा कवी संदीप कांबले  ने अपने आयुष्य के कुछ प्रसंग कथन करके विद्यार्थियों का मार्गदर्शन किया। कार्यक्रम के अध्यक्ष  नारायण तांबे ने विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए संवाद किया। कार्यक्रम का संचालन वी एल गरुड  ने किया तथा स्कूल के मुख्याध्यापक विजय पाटिल ने उपस्थित अतिथियों के  प्रति आभार व्यक्त किया। 

Post a comment

Blogger