Ads (728x90)

भिवंडी।एम हुसेन । भिवंडी शहर महानगरपालिका मुख्यालय इमारत परिसर के वृक्ष पर फंदा लगाकर एक रिक्शा चालक द्वारा आत्महत्या करने की घटना मंगलवार की सुबह घटित हुई है। उक्त घटना के बाद कर्मचारी व सुरक्षा रक्षकों के लिए बडा प्रश्न खडा हो गया है।सूचना मिलते ही निजामपूर पुलिस स्टेशन की टीम तुरंत घटनास्थल पर पहुंची और मृतदेह का पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए स्व इंदिरा गांधी उप जिला अस्पताल में भेज दिया  है। पुलिस द्वारा प्राप्त जानकारी के अनुसार गुलाम नबी  शेख ( ४५ निवासी . गैबीनगर ) नामक आत्महत्या करने वाला रिक्शा चालक है। निजामपूर पुलिस ने उक्त घटना को गंभीरता से लेते हुए  आकस्मिक मृत्यु का मामला दर्ज कर मनपा के प्रांगण में लगे सिसिटीवी केमरे की जांच कर  हत्या या आत्महत्या ? इस बाबत विस्तृृृत  जांच शुरू कर दी है। परंतु केमरे में उक्त प्रकरण का कोई दृश्य नहीं मिला।इसलिए पुलिस सुरक्षा रक्षक व व्यवस्थापक से जांच शुरू की है।इससे पूर्व भी भिवंडी मनपा की इमारत की टेरस से एक व्यक्ति ने कूदकर  आत्महत्या कर लिया है।परंतु सिसिटीवी केमरे में मृतक का छायाचित्र नहीं आया था। उस समय भी केमरा बंद मिला था जिससे पुलिस यंत्रणा चक्रा गई है। मृतक गुलाम नबी शेख  गैबीनगर क्षत्र में रकहर रिक्शा चलाकर अपने परिवार का पालन पोषण कर रहा था। परंतु पूर्व दो वर्षों से पत्नी के साथ हुए परिवारिक विवाद के कारण पत्नी दो बच्चों सहित अलग रहती है जिसकारण  गुलाम नबी  मानसिक तनाव में रहता था इस प्रकार की जानकारी उसके भाई गुलाम मोहम्मद  ने दी है। मृतक बीती रात डेढ बजे के समय  घर रिक्शा लेेकर आया व उसके बाद पुनः घर के बाहर चला गया इस तरह की जाानकारी परिजनों ने दी है। आज सुबह महानगरपालिका मुख्यालय इमारत के संरक्षक के सामने भीतरी भाग में सटे वृक्ष में रस्सी से फंदा लगाकर बाहरी भाग में आत्महत्या करने का मामला  प्रकाश में आया है। जिसकी सूचना समीप के निजामपुरा पुलिस स्टेशन को मिलते ही पुलिस तुरंत घटनास्थल पर पहुंची और मृतदेह को नीचे उतार कर  स्व.इंदिरा गांधी उप जिला अस्पताल में पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया और पुलिस ने आकस्मिक मृत्यु का मामला दर्ज कर लिया है जिसकी विस्तृत जांच पुलिस निरीक्षक रमेश यादव कर रहे हैं।गौरतलब है कि यह दुर्घटना जहां घटित हुई है वह घटनास्थल भिवंडी मनपा मुख्यालय प्रवेशद्वार के सामने है जहां  २४ घंटे  सुरक्षा रक्षक तैैयनात रहते हैं उसके बावजूद सुरक्षा कर्मियों को इसकी भनक तक नहीं लगी इसबाबत आश्चर्य व्यक्त करते हुए सुरक्षा रक्षकों की सुरक्षा व्यवस्था बाबत चारों ओर प्रश्न चिन्ह उपस्थित किया जारहा है। 

Post a comment

Blogger